कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

दिल्ली में दुर्गा मूर्ति विसर्जन जुलूस में एक समूह के हिंसक होने से आठ पुलिसकर्मी घायल

अधिकारी ने कहा,‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि उन्होंने शराब पी हुई थी।’’

राष्ट्रीय राजधानी में दुर्गा मूर्ति विसर्जन जुलूस में भाग लेने वाले श्रद्धालुओं के एक समूह के हिंसक होने से शुक्रवार को एक पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) समेत आठ पुलिसकर्मी घायल हो गये। पुलिस ने यह जानकारी दी।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (पूर्वी क्षेत्र) रवीन्द्र यादव ने बताया कि यातायात जाम के पिछले अनुभव के कारण इस बार यमुना घाट पर अलग से प्रवेश और निकास द्वार बनाये गये थे।

उन्होंने बताया कि डीसीपी (पूर्व) पंकज सिंह, मयूर विहार के सहायक पुलिस आयुक्त और मयूर विहार पुलिस थाने के एसएचओ विसर्जन के दौरान ड्यूटी पर थे।

उन्होंने बताया कि श्रीनिवासपुरी के श्रद्धालुओं के एक समूह ने प्रवेश द्वार से बाहर निकलने का प्रयास किया जिससे भीड़भाड़ हो गई।

उन्होंने बताया कि बैरिकैड पर तैनात कर्मचारियों ने उन्हें सही द्वार से जाने के लिए समझाने का प्रयास किया और इसके बाद वे अचानक हिंसक हो गये।

अधिकारी ने कहा,‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि उन्होंने शराब पी हुई थी।’’

यादव ने बताया कि घायल पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है।

उन्होंने बताया कि डीसीपी के चेहरे पर उनके पीछे से आये किसी व्यक्ति ने एक छड़ी से मारा। एक पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त हो गया और 11 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+