कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

एडीआर रिपोर्ट: अपराधियों को पनाह देने में भाजपा सबसे आगे, 92 सांसदों के ख़िलाफ़ आपराधिक मामले दर्ज

एडीआर ने 521 सांसदों के आधार पर रिपोर्ट तैयार की है.

राजनीतिक दल अपनी चुनावी रैलियों में देश को अपराध मुक्त बनाने की बात करते हैं. लेकिन अपराध के मामले में राजनीतिक दल के सदस्यों के ही दामन दागदार है. एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि भाजपा सांसदों के ख़िलाफ़ सबसे ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज है.

कच्चा चिट्ठा की ख़बर के अनुसार एडीआर ने 521 सांसदों के आधार पर रिपोर्ट तैयार की है.  एडीआर ने सभी सांसदों से पूरी जानकारी मांगी थी. हालांकि सिर्फ 521 सांसदों ने ही जानकारी साझा की, जबकि 22 सांसदों ने कोई जवाब नहीं दिया.  रिपोर्ट के अनुसार 521 सांसदों में 174 के ख़िलाफ़ किसी न किसी प्रकार के अपराधिक मामले दर्ज है.

इन 174 सांसदों में से 106 सदस्यों के ख़िलाफ़ मर्डर, अटेम्पट टू मर्डर, किडनैपिंग, कम्यूनल डिशहॉर्मोनी और महिलाओं से संबंधित संगीन केस दर्ज है.

एडीआर ने राजनीतिक दलों के हिसाब से भी रिपोर्ट तैयार की है. भाजपा के 267 संसदीय सीटों के विश्लेषण के आधार पर 92 सांसदों के ख़िलाफ़ मामले दर्ज है. वहीं  92 में से 58 सांसदों के ख़िलाफ़ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज है.

भाजपा के अलावा कांग्रेस के 45 सांसदों में से 7 के पर आपराधिक मामले चल रहे हैं.

राज्य के हिसाब से आपराधिक मामलों में महाराष्ट्र पहले नंबर पर है. जिसके 48 में 31 सांसदों पर केस चल रहा है. वहीं बिहार दूसरे और उत्तर प्रदेश तीसरे नबंर पर है. बता दें कि यह रिपोर्ट पिछले 5 सालों के ब्यौरे पर तैयार की गई है.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+