कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर गंभीर, वायु की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी की

इस मौसम में पहली बार वायु की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी के स्तर पर पहुंची है।

दिल्ली में वायु की गुणवत्ता इस मौसम में पहली बार ‘बहुत खराब’ श्रेणी की हो गई है और राष्ट्रीय राजधानी के कई इलाकों में प्रदूषण का स्तर गंभीर हो गया है।

वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान और शोध प्रणाली की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली का संपूर्ण वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 309 रिकॉर्ड किया गया।

शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’ माना जाता है, 51 और 100 के बीच इसे ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’ माना जाता है, 201 और 300 के बीच इसे ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘काफी खराब’ और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक आनंद विहार में बुधवार को एक्यूआई 380, द्वारका सेक्टर आठ में एक्यूआई 376, आईटीओ पर 295 और जहांगीरपुरी में एक्यूआई 349 रिकॉर्ड किया गया। रोहिणी में एक्यूआई 353 दर्ज किया गया।

आंकड़े के मुताबिक, दिल्ली में पीएम 10 का स्तर 287 अैर पीएम 2.5 को 131 मापा गया।

इस मौसम में पहली बार वायु की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी के स्तर पर पहुंची है।

आगामी दिनों में वायु की गुणवत्ता और खराब होने का अनुमान जताया गया है जहां पीएम10 का स्तर 330 और पीएम 2.5 का स्तर 150 तक पहुंचेगा।

सीपीसीबी के एक अधिकारी ने बताया कि वायु की गुणवत्ता खराब होने के कई कारक हैं जिसमें वाहनों का प्रदूषण, निर्माण गतिविधियां और मौसम संबंधी कारक शामिल हैं।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+