कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

मैं धर्म और जाति के नाम पर राजनीति करने वालों के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ रहा हूं लेकिन आप ख़ामोश हैं- अखिलेश यादव

अखिलेश यादव ने पीएम मोदी के उस वक्तव्य पर पलटवार किया है जिसमें प्रधानमंत्री ने खुद को अतिपिछड़ा बताया था.

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री के उस वक्तव्य पर पलटवार किया है जिसमें पीएम मोदी ने खुद को अतिपिछड़ा बताया था. अखिलेश यादव ने कहा कि जब मायावती जी का अपमान हुआ है तो आप ख़ामोश हैं. मैं हमेशा धर्म,जाति और वर्ग से परे बात करता आया हूँ. ये लड़ाई उनके ख़िलाफ़ है जो आज भी इन मुद्दों पर राजनीति करते हैं.

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए कहा था कि “मेरी जाति इतनी छोटी है कि गांव में एकाध घर भी नहीं होता है. मैं पिछड़ा नहीं, अतिपिछड़ा में पैदा हुआ हूं. आप मेरे मुंह से बुलवा रही हैं तो इसलिए बोल रहा हूं. जब मेरा देश पिछड़ा है तो अगड़ा क्या होता है. मुझे पूरे देश को अगड़ा बनाना है.”

दरअसल, पीएम मोदी का इशारा बसपा सुप्रीमो मायावती के तरफ़ था. इस पर अखिलेश यादव ने पलटवार करते हुए ट्वीट किया.

अखिलेश यादव ने लिखा, “जब मायावती जी का अपमान हुआ: आप ख़ामोश. जब मुख्य बोले संविधान न होता तो मैं भैंस चराता: आप ख़ामोश. जब महागठबंधन को कीड़े-मकौड़े कहा गया: आप ख़ामोश. मैं हमेशा धर्म,जाति और वर्ग से परे बात करता आया हूँ. ये लड़ाई उनके ख़िलाफ़ है जो आज भी इन मुद्दों पर राजनीति करते हैं.”

प्रधानमंत्री के इस वक्तव्य पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी तंज कसा है. तेजस्वी ने कहा कि “मैंने पहले ही कह दिया था कि अपने आप को नकली OBC बताने के बाद मोदी जी खुद को अतिपिछड़ा बताएंगे. और कल उन्होंने बता भी दिया. अपने आप को दलित भी बता चुके हैं. कुछ भी कहे लेकिन सच्चाई यह है कि वो जन्मजात अगड़े (ऊंची जाति) और कागजी पिछड़े हैं. वोट लेने के लिए वो क्या-क्या बोलते है?”

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+