कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

आंध्रप्रदेश: दौरे पर पीएम, विरोध में पोस्टर- MODI NEVER AGAIN

मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने गांधीवादी तरीके से पीएम मोदी के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन करने को कहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज आंध्र प्रदेश के दौरे पर हैं. लेकिन दौरे से एक दिन पहले राज्य में पीएम मोदी के विरोध में पोस्टर लगाए गए हैं. इन पोस्टरों पर #NoMoreModi, #ModiAMistake, Modi Never Again (मोदी फिर कभी नहीं), लिखकर प्रधानमंत्री के प्रति विरोध जताया गया है. हालांकि इन पोस्टरों को लगाने वाले लोग कौन हैं इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है.

इन होर्डिंग्स में, बड़ी संख्या में नाराज़ लोगों को पीएम मोदी का पीछा करते हुए दिखाया गया है. जबकि, दूसरे होर्डिंग में पीएम अपना सिर लटकाए हुए हैं.

(साभार- ट्विटर, @RajeshVallabha4)

टाइम्स नाउ की ख़बर के अनुसार राज्य के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने रविवार को प्रधानमंत्री मोदी के दौरे का गांधीवादी तरीके से विरोध प्रदर्शन करने को कहा है.

चंद्रबाबू नायडू ने टेली कांफ्रेंसिंग के ज़रिए अपनी पार्टी (तेलगु देशम पार्टी), के नेताओं से कहा कि, “कल एक काला दिन है. प्रधानमंत्री मोदी उस अन्याय का गवाह बनने आ रहे हैं जो उन्होंने आंध्र प्रदेश में किया है. मोदी राज्यों और संवैधानिक संस्थानों को कमज़ोर कर रहे हैं.”

उन्होंने राफ़ेल सौदे में घोटाले का जिक्र करते हुए कहा कि राफ़ेल में पीएमओ का हस्तक्षेप राष्ट्र के प्रति अपमानजनक है. हम पीले और काले रंग के शर्ट और गुब्बारे के साथ शांतिपूर्ण गांधीवादी विरोध प्रदर्शन करेंगे.

ग़ौरतलब है कि चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व वाली सरकार लंबे समय से आन्ध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग कर रही हैं. न्यूज़ मिन्ट  के अनुसार टीडीपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दिनकर लंका ने कहा कि ये होर्डिंग, राज्य में लोगों के गुस्से को दर्शाते हैं.

पुलिस ने कथित तौर पर आपत्तिजनक होर्डिंग्स को हटाने के लिए नगर निगम के अधिकारियों को आदेश दिया है. वे इस मामले की जांच कर रहे हैं ताकि होर्डिंग्स को लगाने का मकसद का पता लगाया जा सके. ज्ञात हो कि सत्ताधारी टीडीपी द्वारा भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ने के बाद प्रधानमंत्री की राज्य में यह पहली यात्रा है. प्रधानमंत्री मोदी गुंटुर में आज एक रैली को संबोधित करेंगे.

न्यूज़सेंट्रल24x7 को योगदान दें और सत्ता में बैठे लोगों को जवाबदेह बनाने में हमारी मदद करें