कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

परिजनों और बेटी को धमकी मिलने के बाद अनुराग कश्यप ने छोड़ा ट्विटर, कहा- ‘जब बिना डर के बोल नहीं सकता तो मैं कुछ बोलूंगा ही नहीं’

इससे पहले अनुराग कश्यप को एक ऑनलाइन धमकी मिली थी जिसके बाद उन्होंने मुंबई पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई थी.

बॉलीबुड के जाने-माने निर्देशक अनुराग कश्यप राजनीतिक और सामजिक मुद्दों पर बेबाकी अपनी राय रखते आए हैं. लेकिन अब इस बेबाक निर्देशक ने ट्विटर को अलविदा कह दिया है. उन्होंने कहा कि जब मैं बिना डर के अपने मन की बात नहीं कह सकता तो मैं बोलूंगा ही नहीं.

दरअसल अनुराग कश्यप ने बीते दिनों फिल्म जगत के कलाकारों के साथ मिलकर मॉब लिंचिंग पर चिंता जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री मोदी को पत्र भी लिखा था और मॉब अपराध के ख़िलाफ़ सख्त कानून बनाने की अपील की थी. उसके बाद अनुराग कश्यप को सोशल मीडिया पर आलोचनाओं और धमकियों का सामना करना पड़ा. अनुराग कश्यप ने ट्विटर छोड़ने से पहले बताया कि उनके परिवार को धमकियां मिल रही हैं.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, “जब आपके घर वालों को फोन आने लगें, आपकी बेटी को ऑनलाइन धमकी मिलने लगे तो आपको पता चल जाता है कि कोई बात नहीं करना चाहता. ऐसे समय पर तर्कवादी बनने की जरूरत नहीं है. ठग ही शासन करेंगे और ज़िंदगी जीने का नया तरीका ठगी होगा. नए भारत के लिए आप सभी को शुभकामनाएं.”

अपने एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “आप सभी के खुश रहने और सफल होने की कामना करता हूं. यह मेरा आखिरी ट्वीट होगा क्योंकि मैं ट्विटर छोड़ रहा हूं. जब मैं बिना डर के अपने मन की बात नहीं बोल सकता तो मैं बिल्कुल भी बोलना पसंद नहीं करूंगा.”

बता दें कि इससे पहले अनुराग कश्यप को एक ऑनलाइन धमकी मिली थी जिसके बाद उन्होंने मुंबई पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई थी.

ग़ौरतलब है कि हाल में अनुराग कश्यप ने जम्मू-कश्मीर को धारा 370 के तहत मिले विशेष राज्य के दर्जा वापस लिए जाने पर मोदी सरकार की आलोचना की थी. जिसके सरकार समर्थकों ने अनुराग को बुरा-भला कहा था.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+