कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

अरुणाचल प्रदेश: PM मोदी की यात्रा के एक सप्ताह बाद BJP के 54 सदस्यों ने छोड़ा ‘मिशन मोदी’ अभियान

मार्च में महासचिव जर्पम गाम्बिन समेत लगभग 20 नेताओं और 8 विधायकों ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया था.

अरुणाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका लगा है. लोकसभा चुनाव से महज कुछ दिन पहले भाजपा के कम से कम 54 सक्रिय कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर कांग्रेस में शामिल होने के लिए पार्टी छोड़ दी है.

नॉर्थेस्ट नाउ की रिपोर्ट के अनुसार, ‘मिशन मोदी एक बार फिर प्रधानमंत्री (एमएमएपीएम)’ कार्यक्रम को नेतृत्व करने वाले पूर्वी सियांग के भाजपा अध्यक्ष गुमिन तायेंग, सियांग ज़िला अध्यक्ष ययाम तकी, अपर सियांग ज़िला अध्यक्ष अतोप तायेंग और एलडीवी ज़िला अध्यक्ष राजीव लेगो ने भाजपा को अलविदा कह दिया है.

रिपोर्ट के अनुसार, पूर्वी सियांग के 23, सियांग के 10, ऊपरी सियांग के 6 और निचले दिबांग घाटी के 15 कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है.

पूर्वी सियांग के भाजपा प्रवक्ता (एमएमएपीएम) अनार तायेंग ने बताया, “राज्य भाजपा अध्यक्ष और ज़िला स्तर के नेताओं और एमएमएपीएम अभियान में लगे कार्यकर्ताओं के बीच कोई समन्वय नहीं था. हमारी समस्याओं को भाजपा नेता नज़रअंदाज कर देते थे. जिसके कारण हमारे प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं में निराशा पैदा होने लगी थी.”

इसके अलावा, कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर भाजपा राज्य इकाई के अध्यक्ष तपीर गाओ पर भाई-भतीजावाद करने और उनके तानाशाही आचरण की भी शिकायत की.

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने बीते 3 अप्रैल को राज्य में एक चुनावी रैली की थी.

इससे पहले मार्च में, भाजपा की राज्य इकाई के महासचिव जर्पम गाम्बिन ने विधानसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं मिलने पर पार्टी छोड़ दी थी. उसी वक्त 8 विधायकों सहित 20 अन्य नेताओं ने भी भाजपा से इस्तीफा दे दिया था.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+