कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

बिहार में अभद्र टिप्पणियों का विरोध करने वाली बालिकाओं के साथ मारपीट

जब एक दीवार पर कथित तौर पर पड़ोस के एक स्कूल के लड़कों द्वारा लिखी गयीं कुछ अशिष्ट टिप्पणियों का विरोध किया तो कुछ लोगों ने उनके साथ मारपीट की।

बिहार के सुपौल जिले में एक स्कूल की 30 से ज्यादा नाबालिग लड़कियों ने जब एक दीवार पर कथित तौर पर पड़ोस के एक स्कूल के लड़कों द्वारा लिखी गयीं कुछ अशिष्ट टिप्पणियों का विरोध किया तो कुछ लोगों ने उनके साथ मारपीट की।

पुलिस अधीक्षक मृत्युंजय कुमार चौधरी ने पीटीआई को बताया कि प्राथमिकी दर्ज होने के बाद इस मामले में एक महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। प्राथमिकी में नौ लोगों को आरोपी बनाया गया है।

सभी चोटिल लड़कियां जिले के त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र के सुपौल में दरपखा गांव के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की छात्राएं हैं।

घटना शनिवार शाम की है जब आवासीय विद्यालय की छात्राएं अपने परिसर में खेल रही थीं।

सुपौल के जिलाधिकारी बैद्यनाथ यादव ने पीटीआई को बताया कि दोनों स्कूल एक ही परिसर में हैं जिनकी इमारतें अलग हैं लेकिन खेल का मैदान एक ही है। लड़कों ने कथित तौर पर लड़कियों के स्कूल की दीवार पर कुछ अभद्र टिप्पणी लिख दी थीं। लड़कियों ने इसका विरोध किया और लड़कों को पीट-पीटकर भगा दिया।

बाद में सभी नाबालिग लड़कों ने अपने माता-पिता को यह बात बताई जिसके बाद उनकी माताओं ने अन्य ग्रामीणों के साथ मिलकर स्कूल परिसर में घुसकर लड़कियों पर हमला बोल दिया।

यादव ने बताया कि घटना के समय खेल के मैदान में 74 बालिकाएं थीं और उनमें से 30 को चोट आई।

https://www.facebook.com/rajesh.sitv/videos/vb.100001156736794/1784246498290557/?type=2&video_source=user_video_tab

डीएम ने बताया कि सभी चोटिल छात्राओं को त्रिवेणीगंज रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 20 बालिकाओं को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गयी।

बाकी 10 का उपचार चल रहा है और एक या दो दिन में उन्हें छुट्टी दे दी जाएगी।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+