कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

बेबस भाजपा को बीबीसी का सहारा: राजस्थान चुनाव में BBC का नाम लेकर पेश किया नकली सर्वे

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

राजस्थान चुनावों को लेकर एक कथित जनमत सर्वेक्षण ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कारपोरेशन (BBC) के नाम से इन दिनों सोशल मीडिया में वायरल है। कइयों ने चुनाव परिणामों की इस भविष्यवाणी के साथ बीबीसी का होम पेज (123) शेयर किया है। यह कथित सर्वेक्षण, जिसमें जून में, कांग्रेस को 160+ सीटों और भाजपा को 30 सीटों की भविष्यवाणी की गई थी, इसने अब 28 नवंबर, 2018 को, भाजपा को 135 सीटों के साथ जीत की भविष्यवाणी की है।

ऐसी ही पोस्ट (अक्टूबर 2018 के बाद संख्याओं को बदलकर) ट्विटर यूजर ऋषि बागरी द्वारा भी शेयर की गई है, जिसके 6,000 से अधिक लाइक और 2,000 से अधिक रिट्वीट हैं। हालांकि, बागरी ने इस चुनाव पूर्व सर्वेक्षण का बीबीसी को श्रेय नहीं दिया।

सोशल मीडिया यूजर्स ने इस कथित सर्वेक्षण को ट्विटर और फेसबुक दोनों पर समान और व्यापक रूप से प्रसारित किया है, जिसमें दिसंबर के राजस्थान चुनावों में कांग्रेस के ख़िलाफ़ भाजपा की जीत की भविष्यवाणी की गई है।

कई फेसबुक अकाउंट्स से शेयर किया गया समान संदेश इस बात का संकेत देता है कि कथित सर्वेक्षण व्हाट्सएप पर भी वायरल है।

नकली जनमत सर्वेक्षण

ऑल्ट न्यूज ने बीबीसी के एक प्रवक्ता से बात की जिन्होंने सूचित किया कि इस समाचार संगठन द्वारा ऐसा कोई भी जनमत सर्वेक्षण प्रकाशित नहीं हुआ है। इसके अलावा, बीबीसी भारत में चुनाव पूर्व सर्वेक्षण आयोजित नहीं करता है।

प्रवक्ता ने कहा, “राजस्थान चुनावों को लेकर यह नकली सर्वेक्षण, इसके बीबीसी न्यूज़ के द्वारा कराए जाने के दावे के साथ, व्हाट्सएप और सोशल मीडिया में प्रसारित हो रहा है। हम बिल्कुल स्पष्ट करना चाहते हैं कि यह नकली है और बीबीसी से नहीं आया है। बीबीसी भारत में चुनाव पूर्व सर्वेक्षण आयोजित नहीं करता है।”

जहां तक ​​एक्जिट पोल का सवाल है, राजस्थान विधानसभा चुनावों को लेकर — एबीपी न्यूज़-सीवोटर (ABP News-CVoter), सी फोर (C fore) और सीएनएक्स (CNX) के साथ टाइम्स नाउ (Times Now) — के तीन जनमत सर्वेक्षण आयोजित किए गए हैं, और वे सभी कांग्रेस की जीत की भविष्यवाणी करते हैं।

गलत जानकारी को असली जैसा दिखलाकर देने के लिए नकली खबरों को अक्सर विश्वसनीय मीडिया संगठनों के सहारे की जरूरत होती है। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के शुरू होने से पहले, मई 2018 में, एक और कथित जनमत सर्वेक्षण ‘जनता की बात’ बीबीसी सर्वेक्षण के रूप में वायरल हुआ था। उसकी जांच में ऑल्ट न्यूज़ ने पाया था कि वह जनमत सर्वेक्षण नकली था और ‘जन की बात‘ सर्वेक्षण की नकल का प्रयास किया गया था। इसी साल सितंबर में BBCके नाम से चल रही एक अन्य नकली वेबसाइट भी वायरल थी, जो कांग्रेस को दूसरे स्थान पर रखते हुए, दुनिया की सबसे भ्रष्ट राजनीतिक दलों की ‘सूची’ का प्रचार कर रही थी। उसी वेबसाइट ने नरेंद्र मोदी को सातवें स्थान पर रखने वाले सबसे भ्रष्ट नेताओं की ‘सूची’ का भी प्रचार किया था। फॉक्स न्यूज़ की नकली वेबसाइट पर भारत के प्रधानमंत्री को दुनिया का दूसरा सबसे भ्रष्ट नेता घोषित किया गया था।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+