कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

बिहारः लू लगने से 101 लोगों की मौत

मुख्यमंत्री ने अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक, प्राचार्य एवं चिकित्सकों से मरीजों के इलाज के संबंध में विस्तृत जानकारी ली एवं उन्हें कई निर्देश दिये.

बिहार में गर्मी के इस मौसम में लू से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर गुरुवार को 101 हो गई. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रभावित जिलों का दौरा कर आवश्यक निर्देश दिए हैं. आपदा प्रबंधन विभाग के नियंत्रण कक्ष से बुधवार को प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रदेश में लू लगने से अबतक 101 लोगों की मौत हो चुकी है जिनमें से औरंगाबाद जिले में 48, गया में 39 और नवादा में 14 लोगों की मौत हुई है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गया जिले में स्थित अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में हीट स्ट्रोक (लू) से प्रभावित मरीजों से मुलाकात की. मुख्यमंत्री ने पीड़ित मरीजों को आश्वस्त किया कि उन्हें हर संभव चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी.

मुख्यमंत्री ने अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक, प्राचार्य एवं चिकित्सकों से मरीजों के इलाज के संबंध में विस्तृत जानकारी ली एवं उन्हें कई निर्देश दिये.

मुख्यमंत्री ने बाद में अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल के प्रशासनिक भवन में हीट स्ट्रोक (लू) एवं जापानी इंसेफ्लाइटिस से निपटने की तैयारियों को लेकर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. मुख्यमंत्री के समक्ष इस संबंध में एक प्रस्तुतीकरण दिए जाने के साथ उन्हें मगध प्रमण्डल के आयुक्त पंकज कुमार पाल ने हीट स्ट्रोक से पीड़ित मरीजों के इलाज के संबंध में विस्तृत जानकारी दी.

इस दौरान गया, औरंगाबाद एवं नवादा में अस्पतालों की स्थिति पर भी चर्चा की गयी. बैठक के दौरान जापानी इंसेफ्लाइटिस पर भी विस्तार से चर्चा की गयी. मुख्यमंत्री को जापानी इंसेफ्लाइटिस के टीकाकरण के संबंध में विस्तारपूर्वक बताया गया.

मुख्यमंत्री ने बैठक के क्रम में निर्देश देते हुए कहा कि जो भी पीड़ित मरीज हैं, उनके इलाज का माइक्रो लेवल पर आंकलन करें कि किस परिस्थिति में इनकी तबीयत खराब हुई और अन्य बीमारियों के कुछ लक्षण तो नहीं हैं, इसकी भी जांच कर लें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि लू से मरने वाले लोगों का जल्द से जल्द सत्यापन करा लें ताकि उनको आपदा से संबंधित अनुग्रह अनुदान की राशि शीघ्र मिल सके. बैठक के दौरान मुख्यमंत्री को मौसम की स्थिति, पेयजल की उपलब्धता और हर घर नल का जल योजना की अद्यतन स्थिति से भी अवगत कराया गया.

मुख्यमंत्री को जानकारी दी गयी कि पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये टैंकर के माध्यम से भी पानी उपलब्ध कराया जा रहा है मौसम विभाग के पटना कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक राजधानी पटना में गुरुवार को अधिकतम तापमान 40.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि न्यूनतम तापमान 31.0 डिग्री सेल्सियस रहा.

पटना में गत शनिवार को अधिकतम तापमान पिछले 10 वर्षों के रिकॉर्ड को पार कर गया था. बिहार के अन्य जिलों गया, भागलपुर और पूर्णिया में गुरुवार को अधिकतम तापमान क्रमश: 40.4 डिग्री सेल्सियस, 38.2 डिग्री सेल्सियस और 33.2 डिग्री सेल्सियस रहा. गया, भागलपुर और पूर्णिया में गुरुवार को न्यूनतम तापमान क्रमश: 30.8 डिग्री सेल्सियस, 29.2 डिग्री सेल्सियस और 26.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया.

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के लिए पूर्वानुमान में पटना में लू चलने , गया में सामान्य तौर पर बादल छाए रहने अथवा गरज के साथ छीटें पडने, भागलपुर में बादल छाए रहने और पूर्णिया जिले में सामान्य तौर पर बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने की संभावना जतायी है.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+