कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

नोट के बदले वोट: भाजपा विधायक ने सरेआम मतदाताओं के बीच बांटे पैसे, आचार संहिता का खुला उल्लंघन

कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने आरोप लगाया है कि भाजपा विधायक ने चुनाव में मतदाताओं को लुभाने के लिए धन का प्रयोग किया है. जो आचार संहिता का खुला उल्लंघन है.

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक विडियो काफ़ी वायरल हो रहा है. इस विडियो में भाजपा विधायक गणेश जोशी महिलाओं को रुपये देते नज़र आ रहे हैं. विडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस के अनुशासन समिति के अध्यक्ष प्रमोद कुमार के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्य चुनाव आयोग से आचार संहिता के उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए भाजपा विधायक के ख़िलाफ़ शिकायत कर कार्रवाई करने की मांग की है. आयुक्त को इस मामले की एक सीडी भी सौंपी गई है.

कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने आरोप लगाया है कि भाजपा विधायक ने चुनाव में मतदाताओं को लुभाने के लिए धन का प्रयोग किया है. जो आचार संहिता का खुला उल्लंघन है.

अमर उजाला की ख़बर के मुताबिक राज्य चुनाव आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट ने शिकायत मिलने पर देहरादून ज़िलाधिकारी को मामले की जांच करने के आदेश दिए हैं. इस पूरे मामले में जब ज़िलाधिकारी की तरफ से मामले की जांच के लिए भाजपा विधायक को फोन किया तो उन्होंने कार्यक्रम के लिए मंच पर होने की बात कह कर कहा कि वे बाद में बाद करेंगे और फोन काट दिया. हालांकि इस पूरे मामले में सफाई देते हुए विधायक जोशी ने कहा कि हिंदू रीति के अनुरूप छठ पर्व में शगुन देने की परंपरा निभा रहे थे.

कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक पर भी चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया है और राज्य चुनाव आयुक्त से उनकी शिकायत की है. पार्टी नेताओं ने कहा कि कौशिक नजूल भूमि अतिक्रमण के बारे में उच्च न्यायालय से स्टे आदेश मिलने पर झूठ बोल रहे हैं. ऐसा करके वे मतदाताओं को गुमराह कर रहे हैं. जबकि राज्य सरकार कीतरफ से न्यायालय में भूमि अतिक्रमण की कोई याचिका दायर ही नहीं की गई है.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+