कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

भाजपा सांसद ने किया एक स्थानीय नेता के उनके पैर धोकर पानी को पीने को लेकर माफ़ी मांगने से इनकार

इस घटना के लिए दुबे ने अपने बचाव में कहा कि झारखंड में पैर धोना एक परंपरागत-अभ्यास है

रविवार को एक वायरल वीडियो में झारखंड के गोड्डा ज़िले में एक स्थानीय पार्टी कार्यकर्ता पवन शाह ने भारतीय जनता पार्टी के सांसद निशिकांत दुबे के पैर धोए। सोशल मीडिया पर इस घटना को लेकर दुबे की काफी निंदा की गई।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार इस घटना के लिए दुबे ने माफी मांगने से इंकार करते हुए अपने बचाव में कहा कि झारखंड में पैर धोना एक परंपरागत-अभ्यास है।

दुबे ने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा, “मेहमानों के पैरों को धोना झारखंड में एक परंपरा है। और अगर कोई पार्टी कार्यकर्ता खुशी से पैर धोता है तो इसमें आश्चर्यजनक बात क्या है?”

उन्होंने इस घटना की महाभारत में कृष्ण और सुदमा से तुलना भी की।

हालांकि पैर धोना परंपरा बताने का औचित्य सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं को मनाने में विफल ही साबित हुआ।

 

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+