कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

पश्चिम बंगाल: पुलिस और सीबीआई टकराव पर तृणमूल सदस्यों का लोकसभा में हंगामा, गतिरोध जारी

लोकसभा की कार्यवाही आरंभ होने के साथ ही तृणमूल के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए.

पश्चिम बंगाल में सीबीआई और पुलिस के बीच गतिरोध के मुद्दे पर लोकसभा में मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों के भारी हंगामे के कारण कार्यवाही शुरू होने के करीब पांच मिनट बाद दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.

लोकसभा की कार्यवाही आरंभ होने के साथ ही तृणमूल के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए. समाजवादी पार्टी के धर्मेंद्र यादव एवं कुछ अन्य सदस्य और राजद सदस्य जयप्रकाश नारायण यादव भी तृणमूल कांग्रेस सदस्यों के साथ नारेबाजी करते देखे गए. उन्होंने ‘सीबीआई तोता है’ और ‘संविधान बचाओ’ के नारे लगाए. तेलुगू देसम पार्टी के सदस्य भी आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग करते हुए आसन के निकट पहुंच गए. शोर-शराबे के बीच ही स्पीकर ने किसानों की वास्तविक आय से जुड़ा प्रश्न लिए और कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने जवाब भी दिए.

सुमित्रा महाजन ने सदस्यों से अपने स्थान पर जाने की अपील करते हुए कहा कि मामले पर उच्चतम न्यायालय में सुनवाई चल रही है. आप लोग सीबीआई की नहीं मानोगे, उच्चतम न्यायालय की नहीं मानोगे, सिर्फ अपनी बात करोगे. हर संस्था का अपना काम है और उसे करने दीजिए. आप लोग अपने स्थान पर जाइए. उनकी अपील के बावजूद स्थिति ज्यों की त्यों बनी रहने पर उन्होंने सदन की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

ग़ौरतलब है कि चिटफंड घोटाला मामले में सीबीआई द्वारा कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार से पूछताछ करने के प्रयास के बाद केंद्र सरकार पर सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी रविवार शाम को कोलकाता में धरने पर बैठ गयीं.

सीबीआई की एक टीम रविवार को मध्य कोलकाता में कुमार के लाउडन स्ट्रीट स्थित आवास पहुंची थी लेकिन वहां तैनात कर्मियों ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया और उन्हें थाने ले गए. सीबीआई कुमार से लापता दस्तावेज और फाइलों के बारे में पूछताछ करना चाहती थी.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+