कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

घायलों को देखने गये मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, दुर्घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के दिये आदेश

मुख्यमंत्री अपना इस्राइल जाने का कार्यक्रम रद्द कर, हादसे की स्थिति का जायज़ा लेने पहुंचे।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अमृतसर ट्रेन हादसे में घायल हुए लोगों से और मारे गये लोगों के परिजनों से मिलने के बाद घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिये हैं । मुख्यमंत्री ने अपना इस्राइल जाने का कार्यक्रम आज रद्द कर दिया और हादसे के बाद उत्पन्न स्थिति का जायजा लेने के लिए सुबह यहां पहुंचे।

सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘‘हम घटना की मजिस्ट्रेटी जांच कराने की घोषणा करते हैं।’’ उन्होंने कहा कि दोषी का पता लगाने वाली रिपोर्ट चार सप्ताह में देने को कहा गया है। जालंधर के संभागीय आयुक्त को जांच कराने का काम सौंपा गया है। अमृतसर में जोड़ा फाटक के निकट शुक्रवार शाम को रावण दहन देखने के लिए रेल की पटरियों पर खड़े लोग एक ट्रेन की चपेट में आ गए जिसमें कम से कम 61 लोगों की मौत हो गई थी।

जोड़ा फाटक पर जब यह हादसा हुआ उस समय पटरियों से सटे मैदान में ‘रावण दहन’ देखने के लिए कम से कम 300 लोग जमा हुए थे। उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि राज्य सरकार ने पहले ही मरने वालों के परिजनों को पांच-पांच लाख रूपया मुआवजा देने की घोषणा की है । इसके अलावा सरकार विभिन्न अस्पतालों में भर्ती घायलों के चिकित्सा खर्च भी वहन करेगा । उन्होंने कहा कि दुर्घटना में 61 लोग मारे गये और 72 घायल हुये हैं। नौ को छोड़ कर अधिकांश शवों की पहचान कर ली गई है।

अमृतसर हवाई अड्डा पर उतरने के बाद सिंह दुर्घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों और आपदा प्रबंधन समूह के सदस्यों से मुलाकात की और राहत कार्य का जायजा लिया। उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म मोहिन्द्रा, स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू, शिक्षा मंत्री ओ पी सोनी, पंजाब कांग्रेस प्रमुख सुनील जाखड़ सहित अन्य लोग मौजूद थे।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+