कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

झारखंड: मुख्यमंत्री के मोबाइल में नहीं आ रहा था नेटवर्क, BSNL के अधिकारियों को घर से उठा ले गई पुलिस

पुलिस ने सजा के तौर पर बीएसएनएल के अधिकारियों को आधी रात थाने ले जाकर तीन घंटे तक बिठाया.

यूं तो पूरे देश में लोग अपने मोबाइल फ़ोन पर नेटवर्क सम्बन्धी मसलों से परेशान रहते हैं. शिकायतें भी करते हैं लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं होती. लेकिन झारखण्ड के मुख्यमंत्री जी ने इस मामले में बहुत ही निराला रास्ता अपना लिया. मुख्यमंत्री रघुबर दास ने भारतीय संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के दो अफसरों को उनके घर से उठवाकर थाने पर तीन घंटे बैठे रहने की सज़ा दे दी. और ऐसा उन्होंने सिर्फ इसलिए किया क्योंकि उनके मोबाइल पर नेटवर्क नहीं आ रहा था.

जनसत्ता की एक ख़बर के मुताबिक़ झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुबर दास दुमका में जन चौपाल कार्यक्रम में शामिल होने के लिए राजभवन में ठहरे थे. इस दौरान उन्हें मोबाइल पर नेटवर्क को लेकर समस्या झेलनी पड़ी जिसपर उन्होंने नाराज़गी जताई.

मुख्यमंत्री जी की नाराज़गी को ध्यान में रखते हुए कर्मठ पुलिस अधिकारियों ने ‘त्वरित कार्रवाई’ करते हुए बीएसएनएल के जिला प्रबंधक पीके सिंह और सहायक टेलिकॉम अधिकारी संजीव कुमार को उनके घर से उठा लिया. इसके बाद सज़ा के तौर पर दोनों अधिकारियों को तीन घंटे तक पुलिस थाने पर बैठा दिया गया और फिर रात को करीब 3 बजे छोड़ा गया.

इस पूरे मामले पर टाउन पुलिस स्टेशन के ऑफिसर ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि चूंकि राजभवन में ठहरे माननीय मुख्यमंत्री रघुबर दास के मोबाइल पर नेटवर्क नहीं आ रहा था इसलिए उन्होंने बीएसएनएल के दोनों अफसरों को उठा लिया था.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+