कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

दिल्ली में चल रही है एक डरावनी फ़िल्म, नाम है- चौकीदार ही चोर: राहुल गांधी

सीबीआई के डीआईजी ने सरकार के एक मंत्री, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सहित कई बड़े अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाया है.

सीबीआई के डीआईजी मनीष कुमार सिन्हा ने मोदी सरकार के कोयला एवं खदान राज्यमंत्री हरिभाई पार्थीभाई पटेल पर मोईन कु़रैशी के मामले में करोड़ों रुपयों की रिश्वत लेने का आरोप लगाया है. इस मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने अपने एक ट्वीट में कहा कि जनता का भरोसा टूट रहा है और लोकतंत्र रो रहा है.

राहुल गाँधी ने मामले में प्रधानमंत्री मोदी को आड़े हाथ लेते हुए अपने ट्वीट में कहा, “दिल्ली में ‘चौकीदार ही चोर’ नामक एक क्राइम थ्रिलर चल रहा है. नए एपिसोड में सीबीआई के डीआईजी द्वारा एक मंत्री, एनएसए, कानून सचिव और कैबिनेट सचिव के ख़िलाफ़ गंभीर आरोप हैं. वहीं गुजरात से लाया उसका साथी करोड़ों वसूली उठा रहा है. अफसर थक गए हैं, भरोसे टूट गए हैं. लोकतंत्र रो रहा है.”

गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय में सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के मामले की सुनवाई चल रही है. इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए डीआईजी मनीष कुमार सिन्हा ने सोमवार को एक याचिका दायर की थी. इसमें उन्होंने खदान राज्यमंत्री हरिभाई पार्थीभाई पटेल पर करोड़ों रुपए की रिश्वत लेने का आरोप लगाया था. उन्होंने मोईन कुरैशी मामले में गिरफ़्तार किए गए मनोज प्रसाद और सोमेश प्रसाद के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के कथित तौर पर नज़दीकी सम्बन्ध होने के बारे में भी बताया.

ख़बरों के मुताबिक़ सिन्हा ने अपनी याचिका में डोभाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि सीबीआई के विशेष निदेशक और डीएसपी देवेन्द्र कुमार के ख़िलाफ़ सीबीआई की जांच में डोभाल ने एक महत्त्वपूर्ण समय पर हस्तक्षेप किया ताकि उनके मोबाइल फ़ोन को बतौर सबूत ज़ब्त न किया जाए. सिन्हा का दावा है कि देवेन्द्र कुमार के व्हाट्सएप के संदेशों में काफ़ी सबूत थे. उन्होंने अपनी याचिका में यह भी बताया कि डोभाल ने डिप्टी निदेशक राकेश अस्थाना के आवास की तलाशी को रोकने के भी निर्देश दिए थे.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+