कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

गोवा के चहेते थे मनोहर पर्रिकर : राहुल गांधी

लंबे समय तक बीमारी से जूझ रहे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार शाम निधन हो गया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताते हुए उन्हें ‘‘गोवा का चहेता बताया.’’ उन्होंने कहा कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सभी लोग पर्रिकर का मान-सम्मान करते थे और बड़े साहस से वह एक साल तक बीमारी से लड़ते रहे.

गांधी ने ट्वीट किया है, ‘‘गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन की सूचना से मैं बहुत दुखी हूं. वह एक साल तक पूरे साहस से अपनी बीमारी से लड़ते रहे. दलगत राजनीति से इतर सभी उनका मान-सम्मान करते थे और वह गोवा के सबसे लोकप्रिय बेटों में से एक थे. दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजन के साथ हैं.’’

वहीं कांग्रेस ने ट्वीट किया है, ‘‘हम पूर्व केन्द्रीय मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक व्यक्त करते हैं. हम भगवान से उनके परिवार को यह दुख सहने की ताकत देने की प्रार्थना करते हैं.’’

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया है, ‘‘गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन से शोकाकुल हूं. मेरी गहरी संवेदनाएं उनके परिजन के साथ हैं… ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे.’’

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया है, ‘‘गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन की सूचना से बहुत दुखी हूं. उनका स्वभाव मित्रवत था और सभी उनका सम्मान करते थे. मेरी संवेदनाएं उनके परिजन और मित्रों के साथ है.’’

पर्रिकर का रविवार को उनके निजी आवास में निधन हो गया. वह 63 वर्ष के थे. उनके परिवार में दो पुत्र और उनका परिवार है. पिछले एक साल से बीमार चल रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता का स्वास्थ्य दो दिन पहले बहुत बिगड़ गया था.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+