कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

ओडिशा और आंध्रप्रदेश के तट से टकराया चक्रवात ‘तितली’, सभी ज़िलों में हाई अलर्ट

दोनों राज्यों में चक्रवाती तूफ़ान के बाद भारी बारिश शुरू हो गई है।

गुरुवार सुबह के करीब 5 बजे तितली नामक चक्रवाती तूफान ओडिशा के गंजम ज़िले के गोपालपुर और आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम तट से टकराया है। इसकी रफ़्तार 140-150 किलोमीटर प्रति घंटे बताई गई है। इस चक्रवात के कारण तटीय इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। साथ ही दोनों राज्यों में भूस्खलन भी हुआ है। तूफान को अति गंभीर चक्रवाती श्रेणी में रखा गया है। तूफान के कारण कई पेड़ और बिजली के खंभे भी गिर गए हैं।
गौरतलब है कि यह तूफान बंगाल की खाड़ी में 280 किलोमीटर के भीतर उठा था। इसके कारण ओडिशा में 12 अक्टूबर तक भारी बारिश की आशंका जताई गई थी। दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक बुधवार को मौसम विभाग ने चेतावनी दी थी कि गुरुवार को ओडिशा के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगापट्टनम में आंधी-तूफान की आशंका है। ओडिशा के मुख्य सचिव आदित्य प्रसाद ने कहा कि तटीय क्षेत्र के पांच ज़िलों गंजम, पुरी, खुर्दा, केंद्रपाड़ा और जगतसिंह में निचले इलाकों को खाली कराया गया हैं। अब तक तकरीबन तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया।
गोपालपुर में तूफान के कारण समुद्र में नाव पलट गई। हालांकि आपदा प्रबंधन दल ने बचाव कार्य कर नाव में सवार पांच मछुआरों को बचा लिया। ओडिशा में तूफान से प्रभावित ज़िलों से गुजरने वाली ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं।
ओडिशा सरकार ने सभी ज़िलाधिकारियों को हाई अलर्ट भेजा है। अफ़सरों की छुट्टियों को भी रद्द कर दिया गया है। 11 और 12 अक्टूबर को राज्य के सभी स्कूल व कॉलेज़ बंद रखने का आदेश दिया गया है। मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है।
You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+