कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

फैक्ट चेकः भारत-अमेरिका के संयुक्त सैन्य अभ्यास का पुराना विडियो कश्मीर में ‘लाइव मुठभेड़’ के रूप में साझा

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

कश्मीर में बड़े पैमाने पर सेना की तैनाती के कारण से तनाव बना हुआ है और राज्य में आवागमन बंद है। इसके बीच, “कश्मीर में लाइव मुठभेड़” लिखे हुए कैप्शन से एक वीडियो कई सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं द्वारा साझा किया गया है। यह वीडियो 57 सेकंड लंबा है।

वीडियो में सुरक्षाकर्मियों को घरों के अंदर तलाशी करते हुए दिखाया गया है। सुरक्षाकर्मी ज़मीन पर पड़े हुए आतंकवादी के शरीर की तलाशी लेता, इससे पहले गोलियों की आवाज़ सुनाई देती है और लोगों के पीछा करने का घटनाक्रम चलता है। वीडियो में, डीडी न्यूज के रिपोर्टर को पूरी घटना की ‘रिपोर्टिंग’ करते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में बायीं ओर कोने में डीडी न्यूज के लोगो को देखा जा सकता है।

यह समान वीडियो मलयालम भाषा में भी वायरल है, जिसके मुताबिक,“यदि राज्य पर शासन करते हैं , आतंकवादी अपने घरों में छिपे हुए हैं और जब सेना घरों का निरीक्षण करने के लिए आती है, तो वे बोलो तकबीर को बुलाते हैं और सेना को रोकने की कोशिश करते हैं”-(अनुवाद)।

यह वीडियो फेसबुक पर अंग्रेजी और मलयालम भाषा में भी वायरल है।

भारत-अमेरिका संयुक्त सैन्य अभ्यास का पुराना वीडियो

वीडियो में देखे गए डीडी न्यूज के लोगो के आधार पर, ऑल्ट न्यूज़ ने यूट्यूब पर डीडी न्यूज चैनल को खंगाला, और हमें 25 अक्टूबर, 2016 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला जिसका शीर्षक है,जानिए “भारतीय सेना कश्मीर में कैसे सर्च ऑपरेशन चलाती है”-(अनुवाद)। वीडियो को आप नीचे देख सकते हैं।

DDन्यूज द्वारा यह एक विशेष वीडियो रिपोर्ट थी, जिसमें दिखाया गया था कि कैसे भारतीय सेना किसी गांव या इलाके में छिपे आतंकवादियों के खुफिया ठिकाने का पता लगाने के बाद सर्च ऑपरेशन का संचालन करती है। अधिक जानकारी के लिए, ऑल्ट न्यूज़ ने इस घटना को कवर करने वाले रिपोर्टर नंदिता डागर के बारे में सर्च किया। ऑल्ट न्यूज़ को 25 सितंबर, 2016 का एक ट्वीट मिला, जिसमें रिपोर्टर ने वीडियो में दिखनेवाले समान कपड़े ही पहन रखे हैं। ट्वीट के मुताबिक, यह तस्वीर भारत-अमेरिका के संयुक्त सैन्य अभ्यास कार्यक्रम युद्ध अभ्यास की थी।

युद्ध अभ्यास वर्ष 2004 में अमेरिकी सेना पैसेफिक साझेदारी कार्यक्रम के तहत शुरू किया गया था। भारत-अमेरिका का यहयुद्ध अभ्यास2016, आतंकवाद और आतंकवाद-रोधी अभियानों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ, 15 सितंबर 2016 से शुरू हुआ। यह उत्तराखंड के रानीखेत में चौबटिया मिलिट्री स्टेशन में आयोजित किया गया था।

यह स्पष्ट किया जा सकता है कि सोशल मीडिया में कश्मीर में लाइव मुठभेड़ के दावे से प्रसारित वीडियो, वास्तव में भारत-अमेरिका का सयुंक्त युद्ध अभ्यास का सितम्बर 2016 का वीडियो है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+