कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

क्या ब्रिटिश राजनीतिक विश्लेषक ने राहुल गांधी को ‘बेवकूफ’ कहा? नहीं, यह फ़र्जी अकाउंट है

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

ट्विटर यूजर ब्रैंडन डेविस (@BrandonDav_) का एक ट्वीट सोशल मीडिया में वायरल हुआ। 30 मार्च, 2018 को शुरू हुए इस ट्विटर अकाउंट के प्रोफ़ाइल पर एक नज़र डालने से पता चलता है कि इस अकाउंट ने ‘ब्रिटिश राष्ट्रवादी’ की पहचान हासिल की है, और भारत के आगामी आम चुनाव पर नज़र रखने वाले हैं।

2 अप्रैल को डेविस, जो यूनाइटेड किंगडम के निवासी होने का दावा करते हैं, ने ट्वीट किया, “मैंने 1999, 2004, 2009, 2014 के लोकसभा चुनावों को करीब से देखा। उन सभी का विश्लेषण करने के बाद, मैं कह सकता हूं कि मैंने कभी किसी पीएम उम्मीदवार को राहुल गांधी जैसा बेवकूफ नहीं देखा – (अनुवाद)।” डेविस द्वारा ट्वीट किए गए संदेश में दावा किया गया है कि पिछले आम चुनावों के उनके विश्लेषण में उन्होंने कभी भी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जैसा बेवकूफ नहीं देखा। ट्वीट में राहुल गांधी का ‘बेवकूफ’ पीएम उम्मीदवार के रूप में उपहास करने का प्रयास किया गया है।

फ़ॉलोअर्स की छोटी संख्या होने के बावजूद, यह लेख लिखने के समय तक इस ट्वीट को 6,000 से अधिक बार रिट्वीट किया गया। भाजपा प्रवक्ता तजिंदर बग्गा सहित कई प्रमुख भाजपा समर्थकों ने इसे रिट्वीट किया।

फर्जी अकाउंट

इस हैंडल की फ़ॉलोअर्स संख्या 1000 से भी कम होने के बावजूद, यह लेख लिखने के समय तक इस ट्वीट को हजारों बार रिट्वीट किया जाना आश्चर्यजनक है। इसकी प्रोफ़ाइल तस्वीर की गूगल पर रिवर्स सर्च करने से यह स्थापित होता है कि इस अकाउंट ने, 2016 में एक नौका दुर्घटना में मरे जॉर्ज मिल्स नाम के एक व्यक्ति की तस्वीर का उपयोग करके एक ब्रिटिश व्यक्ति की पहचान को अपनाया है।

इसके अलावा, इस अकाउंट से हिंदी में लिखे गए ट्वीट्स को भी रिट्वीट किया जा रहा है। इसकी बहुत कम संभावना है कि कोई ब्रिटिश राष्ट्रीयता वाला व्यक्ति हिंदी समझे।

ट्विटर पर इस अकाउंट के उजागर हो जाने के बाद, प्रोफ़ाइल पिक्चर को हटा दिया गया जबकि यूजर का नाम “ब्रैंडन डेविस” से बदल कर “कॉमरेड ब्रैंडन डेविस” कर दिया गया।

अब, इस फर्जी अकाउंट ने अपनी प्रोफाइल पिक्चर को 62 साल के निगेल एडिसन की तस्वीर में बदल दिया है। एडिसन की प्रोफाइल पिक्चर का दुरुपयोग मार्च 2018 में एक नस्लवादी ट्विटर प्रोफाइल में भी किया गया था।

सोशल मीडिया में स्क्रीनशॉट प्रसारित

फर्जी समाचार वेबसाइट पोस्टकार्ड न्यूज के संस्थापक विवेक शेट्टी ने भी इस फर्जी अकाउंट को “एक ब्रिटिश राजनीतिक विश्लेषक” कहते हुए, इसके ट्वीट का स्क्रीनशॉट पोस्ट किया था। एक फेसबुक यूजर, चौकीदार योगेश डांगायच नमो, ने भी उसी संदेश के साथ यह स्क्रीनशॉट शेयर किया था।

ब्रैंडन डेविस के नाम का कोई ‘ब्रिटिश राजनीतिक विश्लेषक’ नहीं है। राहुल गांधी का मजाक उड़ाते हुए व्यापक रूप से शेयर किया गया ट्वीट, फर्जी अकाउंट से किया गया था।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+