कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

अक्षय कुमार को सम्मान में नहीं मिली है कनाडा की नागरिकता, फैला रहे झूठ

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार के हालिया ‘गैर-राजनीतिक’ साक्षात्कार ऐसे समय में हुआ कि कई शंकाएं खड़ी हो गई। यह साक्षात्कार आम चुनावों के बीच हुआ और मुख्यधारा के समाचार चैनलों पर प्रसारित किया गया। इसलिए, इस बात की उचित आलोचना हुई और अक्षय कुमार की नागरिकता को लेकर विवाद पुनर्जीवित हुआ कि वह भारतीय नागरिक हैं या कनाडा के नागरिक हैं।

अभिनेता ने चल रहे लोकसभा चुनावों में मतदान के सवाल को टाल दिया और इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में जोरदार तरीके से फैल गया। बाद में, 3 मई को, कुमार ने ट्विटर पर एक बयान दिया, “मैंने कभी इनकार नहीं किया है या छिपाया नहीं है कि मैं कनाडा का पासपोर्ट रखता हूं।” –(अनुवाद)

 

 

अक्षय कुमार ने पहले भी कई बार कहा है कि उनके पास ‘ऑनररी नागरिकता’ है

11 अगस्त, 2017 को प्रसारित टाइम्स नाउ से एक साक्षात्कार में कुमार ने कहा, “कनाडा के बारे में, मैं एक मानद नागरिक हूं। मुझे एक ऑनररी चीज़ दी गई है। मुझे लगता है कि इसके बारे में लोगों को गर्व होना चाहिए। मेरे पास एक डॉक्टरेट भी है, इसका मतलब यह नहीं है कि मैं एक ‘डॉक्टर डॉक्टर’ हूँ। इसे लोगों को समझने की जरूरत है।” -(अनुवादित)

 

 

उन्होंने एक सार्वजनिक बातचीत में भी यही दोहराया, जो यूट्यूब पर उपलब्ध है। जब एक रिपोर्टर ने उनके विकिपीडिया पेज को लेकर सवाल किया कि उसमें उल्लेख है कि वह कनाडाई नागरिक हैं, तो इस अभिनेता ने कहा, “यह मानद है। यह वह नहीं है जो आप सोचते हैं।”

 

 

तथ्य-जांच

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की वेबसाइट उन लोगों को सूचीबद्ध करती है जिन्हें कनाडा की मानद नागरिकता दी गई है। दुनिया में केवल छह व्यक्तियों को अब तक उस देश के मानद नागरिक का नाम दिया गया है, इनमें नवीनतम पाकिस्तानी नोबल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफ़ज़ई हैं। अन्य पांच लोग, राउल वॉलनबर्ग, नेल्सन मंडेला, 14वें दलाई लामा, आंग सान सू की और आगा खान हैं।

इनमें म्यांमार की राजनेता आंग सान सू की की मानद नागरिकता, हालांकि, बर्मा की सेना और रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ मानव अधिकारों के उल्लंघन का हवाला देते हुए पिछले साल कनाडा द्वारा निरस्त कर दी गई थी। कनाडा के पीएम की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के आधार पर, वर्तमान में केवल पांच लोग कनाडा के मानद नागरिकों का नाम रखते हैं और अक्षय कुमार उनमें नहीं हैं।

मानद नागरिकता का पात्र कौन है?

कनाडा के संसद में मानद नागरिकता पर 2014 की बहस के दौरान, सीनेटर स्टीफन ग्रीन ने उल्लेख किया कि देश केवल उन्हीं लोगों को उपाधि प्रदान करता है जिन्होंने “स्वतंत्रता हासिल करने वाली ऐतिहासिक उपलब्धि” हासिल की है। जाहिर है कि अक्षय कुमार इस श्रेणी में नहीं आते।

मानद नागरिक कनाडा का पासपोर्ट नहीं रखते

अपने हालिया ट्वीट में, कुमार ने कहा कि उनके पास कनाडा का पासपोर्ट है। यह कथन अपने आप में उस देश का मानद नागरिक होने के उनके दावे को खारिज करने के लिए पर्याप्त है। मानद नागरिकता एक विशुद्ध प्रतीकात्मक संकेत है। अल जज़ीरा की एक रिपोर्ट के अनुसार, “यह किसी भी अधिकार या विशेषाधिकार के साथ नहीं आता है, जैसे कि एक कनाडा का पासपोर्ट या राष्ट्रीय चुनाव में मतदान का अधिकार।” –(अनुवादित)

बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार कभी कनाडा के मानद नागरिक नहीं रहे। उनका हालिया ट्वीट खुद उनके द्वारा प्रचारित गलत सूचना के एक टुकड़े को खारिज करता है। यदि कुमार कनाडा का पासपोर्ट रखते हैं, तो वे देश के मानद नागरिक नहीं हो सकते।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+