कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

फ़ेक न्यूज़ः भारत में सड़क जाम कर अदा नहीं की गई नमाज़, बांग्लादेश की तस्वीर के साथ झूठा दावा प्रसारित

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

“सड़कों पर नमाज़ पढ़ने को लेकर पाबंदी लगनी चाहिए #SecularIndia. @PMOIndia @HMOIndia इस्लामिक देशों में इसकी अनुमति नहीं है। तो इसकी यहां अनुमति क्यों दी जा रही है??? #PayalRohatgi,“- (अनुवाद)। 3 जून को अभिनेत्री पायल रोहतगी ने एक ट्वीट किया और इसके साथ एक तस्वीर साझा की है, जिसमें हज़ारों की संख्या में लोग सड़क पर नमाज़ पढ़ते हुए दिख रहे है, इसकी वज़ह से सड़क पर यातायात प्रभावित हुआ।

यह तस्वीर सोशल मीडिया में पिछले सप्ताह से चल रही है। “इस्लामिक देशों में जो गलत है वह भारत में सही कैसे..?? सड़कों पर नमाज पढ़ना प्रतिबंधित है इस्लामिक देशों में भारत में सड़कों पर नमाज पढ़ना क्यों प्रतिबंधित नहीं हो सकता क्यों गुलामी करने पर मजबूर हो….????”– इस संदेश के साथ फेसबुक पर यह तस्वीर भाई राहुल रामराज नामक पेज ने साझा की है।

5 जून, ईद के दिन भी ऐसी ही एक तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हुई थी, जिसे इस संदेश के साथ साझा किया गया था – “ध्यान से देखो इस फोटो मे इसमें बसें, कार, टैक्सी, जीप, एम्बुलेंस और इनमे स्कूल जाते बच्चे, ऑफिस जाते लोग, यात्री, राही होंगे, एम्बुलेंस मे पेशेंट होंगे पर इन सभी से ज्यादा जरुरी अल्लाह की इबादत है कोई अस्थमा, दमा, हार्ट पेशंट मर भी जाए तो क्या…इबादत पहले है”।  नीचे दिया गया स्क्रीनशॉट फेसबुक ग्रुप WE SUPPORT NARENDRA MODI द्वारा साझा की गई पोस्ट का है।

यह तस्वीर बांग्लादेश की है

अगर इसे ध्यान से देखा जाए तो इस तस्वीर में नीचे लिखा हुआ है -“robertharding.com.”

गूगल पर एक आसान सा रिवर्स इमेज सर्च करने से हमें वह वेबसाइट का लिंक मिला है जिस पर यह तस्वीर अपलोड की गई थी। वेबसाइट पर तस्वीर के बारे में लिखा गया है कि – “मुस्लिम सड़क पर इबादत कर रहे है क्योंकि वे काफी बड़ी संख्या में टोंगी के बिस्वा इज्तेमा, बांग्लादेश में इक्कठा हुए है”।- (अनुवाद) इसमें उन्होंने फ़ोटोग्राफ़र, एम.युसफ तुषा का नाम भी दिया है।

बांग्लादेश की इसी जगह पर ली गई इन से मिलती जुलती कुछ अन्य तस्वीरें भी गेटी इमेज पर मौजूद हैं।

इस प्रकार, सोशल मीडिया में किया गया दावा कि भारत में नमाज़ के दौरान रास्ता जाम किया गया, यह गलत है। क्योंकि यह तस्वीर बांग्लादेश की है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+