कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

फ़ेक न्यूज़ः BBC फुटेज से रोहिंग्या समुदाय की बच्ची की तस्वीर, झूठे व सांप्रदायिक दावे से शेयर

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

देश मे बढ़ती हुई मुस्लिम आबादी, भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनाने की ओर बढ़ता हुआ कदम है और हमारे कुछ गद्दार नेता भी इस काम मे उनके साथ हैं। समय रहते इस पर ध्यान न दिया गया तो बहुत ही गम्भीर समस्या हो सकती है। जनसँख्या नियंत्रण कानून बनाओ, देश को सशक्त ,समृद्ध और खुशहाल बनाओ।” 

उपरोक्त संदेश को व्यापक रूप से सोशल मीडिया और मैसजिंग प्लैटफॉर्म पर दो इंफोग्राफ के साथ साझा किया जा रहा है। ऊपर के इंफोग्राफ में, एक छोटी बच्ची को देखा जा सकता है। दावा किया गया है कि यह 14 वर्षीय रोहिंग्या मुसलमान लड़की, सखरा है, जिसके पति की उम्र 54 वर्ष है और अब तक उसने दो बच्चों को जन्म दे दिया है। इसमें आगे कहा गया है कि अगर 14 वर्ष की उम्र में उसे 2 बच्चे है तो कम से कम 20 बच्चों  को वह पूरी ज़िन्दगी में जन्म देंगी।

नीचे के पोस्टर में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर के साथ लिखा गया है कि,“हम जनसँख्या कानून नियंत्रण का विरोध करते हैं”।

उपरोक्त इंफोग्राफ और तस्वीरों को फेसबुक पर भी साझा किया जा रहा है।

देश मे बढ़ती हुई मुस्लिम आबादी, भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनाने की ओर बढ़ता हुआ कदम है और हमारे कुछ गद्दार नेता भी इस काम…

Bk Mishra ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶನಿವಾರ, ಜೂನ್ 22, 2019

इसे व्हाट्सअप पर भी साझा किया गया जा रहा है।

झूठा, दुर्भावनापूर्ण दावा

उपरोक्त संदेश नफ़रत भड़काने वाली गलत जानकारी का एक उत्कृष्ट उदाहरण है। वायरल संदेश में साझा की गई लड़की की तस्वीर BBC द्वारा म्यांमार में अत्याचारियों के डर से भाग रहे रोहिंग्या शरणार्थियों की दुर्दशा पर बनाई गई, एक वीडियो रिपोर्ट से लिया गया था। इस वीडियो को नीचे पोस्ट किया गया है। इस तस्वीर से जुड़े हुए हिस्से को वीडियो में 2:06 से 2:13 से मिनट पर देखा जा सकता है। BBC की रिपोर्ट में छोटी बच्ची के बारे में कोई दावा नहीं किया गया है।

इस तस्वीर का इस्तेमाल करके, एक मनगढ़ंत कहानी बनाई गई, जो कम से कम 2017 के बाद से सोशल मीडिया तंत्र में साझा की जा रही है।

क्या नीतीश कुमार जनसंख्या नियंत्रण के विरोध में है?

दूसरा इंफोग्राफ, जिसमें जनसंख्या नियंत्रण पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक बयान के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है, 2016 के एक समाचार पर आधारित है। दिसंबर 2016 में, नितीश कुमार ने भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान पर जवाबी हमला किया, जिसमें गिरिराज ने यह सुझाव दिया था कि नसबंदी जनसंख्या नियंत्रण के रूप में एक असरकारक उपाय है। नितीश कुमार ने गिरिराज सिंह के सुझाव को ‘बकवास’ बताया।

ऑल्ट न्यूज़ ने गूगल पर कीवर्ड्स,“नीतीश कुमार जनसंख्या नियंत्रण पर” से सर्च किया और पाया कि कई मीडिया संगठनों ने नितीश कुमार के बयान पर खबर प्रकाशित किया था।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार जनसंख्या नियंत्रण पर अपनी चिंता ज़ाहिर करते रहे हैं और 2012 में, उन्होंने बेहतर प्रजनन क्षमता के लिए साक्षरता बढ़ाने के लिए सुझाव दिया था ताकि राष्ट्रिय स्तर पर संख्या को बराबर किया जाए।

पिछले दिनों रोहिंग्या बच्चों की तस्वीरों का गलत इस्तेमाल किया गया था। इस समुदाय पर गलत अफवाहों से लगातार निशाना साधा गया है, जिसमें बच्चे के अपहरण से लेकर नरभक्षण तक का झूठा आरोप लगाया गया था।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+