कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

न्याय योजना विज्ञापन में बुजुर्ग महिला को गले लगाते राहुल गांधी की तस्वीर में ‘तीसरे हाथ’ को लेकर झूठी ख़बरें वायरल

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने कांग्रेस की न्यूनतम आय गारंटी योजना का हाल का एक विज्ञापन ट्वीट किया और तस्वीर में दिखलाई पड़ते ‘तीसरे हाथ’ के बारे में संदेह उठाया (आर्काइव)। इस तस्वीर में राहुल गांधी एक बुजुर्ग महिला को गले लगाते हुए दिखते हैं। तस्वीर के एकदम दाईं ओर, महिला की कमर के पास, एक अज्ञात हाथ देखा जा सकता है. भाजपा प्रवक्ता ने ट्वीट किया, “ये तीसरा हाथ किसका है राहुल गांधी जी मैंने आपको कल ही कहा था न, अच्छा पीआर एजेंसी रखें”.

ABP न्यूज़ के पत्रकार विकास भदौरिया ने भी “तीसरे हाथ” के बारे में संदेह जताया. भाजपा मंत्री स्मृति ईरानी ने भदौरिया के ट्वीट का यह कहते हुए जवाब दिया कि कांग्रेस की “हाथ की सफाई” पार्टी की भ्रष्ट मानसिकता को दर्शाती है. उनके ट्वीट में लिखा है, “जब इशतहार में ही ‘sleight of hand‘ नज़र आए तो विचार करें CONgress की भ्रष्ट मानसिकता की जड़ें कितनी गहरी हैं” (आर्काइव).

भाजपा के राष्ट्रीय साहित्य विभाग के सह-प्रभारी विकास प्रीतम ने भदौरिया के ट्वीट को उद्धृत करते हुए ट्वीट किया.

क्या है “तीसरे हाथ” का रहस्य?

न्याय (NYAY/ न्यूनतम आय योजना) के विज्ञापन के लिए कांग्रेस द्वारा इस्तेमाल की गई तस्वीर, एक बड़ी तस्वीर का हिस्सा है जिसमें कई अन्य लोग पृष्ठभूमि में दिखाई दे रहे हैं। गांधी और बुजुर्ग महिला पर ध्यान केंद्रित करते हुए, विज्ञापन में इस्तेमाल तस्वीर में पृष्ठभूमि को धुंधला कर दिया गया था.

यह तस्वीर कांग्रेस द्वारा 2015 में ट्वीट की गई थी.

इस प्रकार, इस तस्वीर की प्रामाणिकता के बारे में सोशल मीडिया के दावे भ्रामक हैं। यह तस्वीर, 2015 में तमिलनाडु और पुडुचेरी के बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहुल गांधी के दौरे के दौरान हुई एक वास्तविक मुलाकात/बातचीत की है। न्याय के विज्ञापन के लिए इस तस्वीर को प्रकाशित करने से पहले कांग्रेस द्वारा पृष्ठभूमि को धुंधला कर दिया गया, मगर उस व्यक्ति के हाथ को क्रॉप नहीं किया गया।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+