कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

फ़ेक न्यूज़ः कुरुक्षेत्र में नहीं मिला घटोत्कच का कंकाल, इटालियन कलाकार की विशाल मूर्तिकला झूठे दावे के साथ शेयर

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

एक विशाल कंकाल की तस्वीर को सोशल मीडिया में महाभारत में भीम के पुत्र, घटोत्कच के कंकाल के रूप में साझा किया जा रहा है, जिसे कुरुक्षेत्र के मैदान में खुदाई के दौरान प्राप्त बताया गया है। तस्वीर के साथ एक संदेश भी साझा किया गया है –“कुरुक्षेत्र में खुदाई के दौरान विदेशी रक्षा विशेषज्ञ को मिला भीम पुत्र घटोत्कच का कंकाल जिसकी लम्बाई 80 फिट है”

एक ट्विटर उपपयोगकर्ता ने इसे एक संदेश के साथ रीट्वीट करते हुए ऑल्ट न्यूज़ से इस तस्वीर की पड़ताल करने का अनुरोधकिया है।

यह दावा फेसबुक पर भी वायरल है।

कुरुक्षेत्र के पास खुदाई करते समय विदेशी पुरातत्वविदो को 80 फुट लंबा मानव कंकाल मिला जिसे भीम के पुत्र घटोत्कच का होने का दावा किया जा रहा है।

Posted by Saurabh Tripathi on Thursday, June 20, 2019

यह तस्वीर सोशल मीडिया में 2015 से साझा की जा रही है।

इटालियन कलाकृति है

ऑल्ट न्यूज़ ने गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया और हमें ऐसी कई घटनाएं, मिली जिसमें इस तस्वीर को विभिन्न दावों से साझा किया गया था। इसमें से दो सबसे प्रमुख दावे -“घटोत्कच का कंकाल” और “गोलियत का कंकाल” है।

तस्वीर में दिख रहा कंकाल एक 28-मीटर लंबी मूर्तिकला, कैलामिता कोस्मिका है, जिसे एक इटालियन कलाकार गीनो डे डॉमिनिकिस ने बनाया है। 2012 में एक माय मॉडर्न मेट नाम की वेबसाइट ने इस कंकाल पर लेख लिखा था, जिसका शीर्षक –“द जायंट ट्रैवेलिंग स्केलेटन” था। एक ट्रैवेलिंग वेबसाइट Atlas Obscura के मुताबिक, “गीनो डी डोमिनिकिस द्वारा निर्मित, इस विशाल कंकाल की मूर्तिकला को मिलान पलाज़ो रीले में 2007में प्रदर्शित किया गया था। इसका नाम “कैलामिता कोस्मिका,” या “कॉस्मिक मैगनेट” रखा गया है, यह मूर्तिकला 28 मीटर लंबी है और इसका वजन लगभग आठ टन, या 16,000 पाउंड है। कलाकार ने अपनी मृत्यु से कुछ समय पहले ही इस मूर्ति के काम को पूरा किया”-(अनुवाद)। डोमिनिकिस की मृत्यु 1998 में हुई थी।

Atlas Obscura ने अपने लेख को 2018 में अपडेट किया था और बताया था कि मूर्तिकला को “Umbria region के फ़्लोरिगो के Annunziata में Chiesa della Santissima Trinità” में स्थानांतरित किया गया है।

2018 में यह तस्वीर सोशल मीडिया में बाइबिल के राक्षस Goliath के कंकाल के दावे से वायरल हुई थी, जिसकी पड़ताल एक अमेरिकन फैक्ट चेक वेबसाइट Snopes ने की थी। Snopes के मुताबिक, इस तस्वीर को 2007 में फ्लिकर उपयोगकर्ता ने मौरो में ली थी।

Atlas Obscura के अनुसार, कंकाल की ऐसी लंबी, नुकीली नाक एक विशेषता है जिसे डी डोमिनिकिस के अधिकांश कार्यों में देखा जा सकता है।

Calamita Cosmica के साथ प्रसारित अन्य तस्वीरों के बारे में पता लगाने के लिए, ऑल्ट न्यूज़ ने गूगल इमेज सर्च किया और पाया कि वो सब डिजिटल कलाकृति थीं, जिन्हें डिजाइन क्राउड नामक एक वेबसाइट पर पोस्ट किया गया था और इसके लिए विभिन्न कलाकारों को श्रेय दिया गया था।

कुरुक्षेत्र में खुदाई के दौरान प्राप्त घटोत्कच के कंकाल के दावे से सोशल मीडिया में प्रसारित हो रही एक विशाल कंकाल की तस्वीर, वास्तव में 1998 में इटालियन कलाकार गीनो डी डोमिनिकिस द्वारा बनाई गई Calamita Cosmica की कलाकृति है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+