कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

फ़ेक न्यूज़ः SP नेता द्वारा पुलिस को धमकी देने का पुराना विडियो साक्षी मिश्रा के पति का बताकर शेयर

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

ये हैं साक्षि मिश्रा के पति कमजोर और निहायत सीधे साधे इंसान जो डर के मारे थर थर कांप रहे हैं। अरे हाँ एक बात तो भूल ही गया ये दलित भी हैं। भगवान ऐसा पति उन सबकी बेटियों को दे जिसको ये नेक दिल इंसान लगते हैं!! “

उपरोक्त संदेश को फेसबुक पर एक वीडियो के साथ साझा किया गया है, जिसमें एक आदमी अन्य व्यक्ति पर चिल्लाते, गाली देते हुए और प्रताड़ित करते हुए दिख रहा है। वीडियो की शुरुआत में व्यक्ति को यह चिल्लाते हुए सुना जा सकता है कि “अखिलेश यादव का सिपाही हूं”। 3 मिनट 10 सेकंड के इस वीडियो में वर्दी पहनी हुई पुलिस को देखा जा सकता है।

ये हैं साक्षि मिश्रा के पति कमजोर और निहायत सीधे साधे इंसान जो डर के मारे थर थर कांप रहे हैं। अरे हाँ एक बात तो भूल ही गया ये दलित भी हैं।भगवान ऐसा पति उन सबकी बेटियों को दे जिसको ये नेक दिल इंसान लगते हैं!!शुभकामनाएं……

Posted by Bhanwar lal bhadu on Monday, July 15, 2019

उपरोक्त पोस्ट को 122,000 बार देखा जा चूका है और 1400 से ज्यादा बार साझा किया गया है। वीडियो और उसके साथ साझा किये गए संदेश को ज्यादातर व्यक्तिगत उपयोगकर्ता ने ही शेयर किया है। यह ध्यान देने योग्य है कि यूपी बरेली से विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा ने सोशल मीडिया के ज़रिए यह आरोप लगाया गया है कि उनके पिता को दलित लड़के से शादी करने पर एतराज़ है। बाद में इस जोड़े ने इलाहाबाद हाईकोर्ट से पुलिस सुरक्षा की मांग की थी।

तथ्य जांच

ऑल्ट न्यूज़ ने वायरल वीडियो को कई की-फ्रेम में तोड़कर उन फ्रेमों को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया लेकिन हमें कोई सुराग नहीं मिला। बाद में यांडेक्स पर की-फ्रेम को सर्च करने से हमें इस घटना से जुड़ा हुआ एक ब्लॉग पोस्ट मिला। इस ब्लॉग पोस्ट का शीर्षक –‘अखिलेश यादव के सहयोगी की गुंडई, थाने में पुलिस वालों को दीं भद्दी गालियां’ था। ब्लॉग पोस्ट के मुताबिक, इस व्यक्ति का नाम वैभव गंगवार है।

इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए, हमने वैभव गंगवार के नाम से गूगल सर्च किया और हमें 4 सितम्बर, 2018 को प्रकशित पत्रिका की एक रिपोर्ट मिली। लेख के मुताबिक, वीडियो में दिख रहा संदिग्ध व्यक्ति समाजवादी पार्टी का युवा नेता है। वह एक ज़मीन विवाद में शामिल था, जिसके चलते पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था और बरेली में किला थाना भेज दिया था। उसके बाद वहां पर उसने पुलिस का तबादला करवाने की धमकी देते हुए हंगामा चालू कर दिया। इस पूरी घटना को थाने के अंदर मौजूद एक पुलिसकर्मी ने मोबाइल फोन में कैद कर लिया था। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद गंगवार को अपने रवैये के लिए गिरफ्तार भी किया गया था। वही News18 सहित कई अन्य मीडिया संगठनों ने इस घटना पर लेख भी प्रकाशित किए थे।

निष्कर्ष के तौर पर, यह कहा जा सकता है कि वायरल वीडियो में दिख रहा व्यक्ति दावे के अनुसार साक्षी मिश्रा का पति नहीं है। यह वीडियो सितम्बर 2018 का है और वीडियो में दिख रहे व्यक्ति समाजवादी पार्टी के नेता हैं।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+