कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

फ़ेक न्यूज़ः TMC नेता ने लाइव टीवी बहस के दौरान नहीं निकाली बंदूक, सोशल मीडिया पर फैलाई गई झूठी ख़बर, जानें सच

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

ट्विटर यूज़र चौकीदार पीयूष (@piyushsinghk) द्वारा पोस्ट की गई एक वीडियो क्लिप को इस दावे के साथ शेयर किया गया है कि यह तृणमूल कांग्रेस के एक नेता द्वारा टीवी पर लाइव बहस के दौरान बंदूक निकालने को दर्शाता है। पीयूष को रेल मंत्री पीयूष गोयल और भाजपा दिल्ली के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा फॉलो करते हैं, और उनके वीडियो को 25,000 से अधिक बार देखा और 2,800 से अधिक बार रिट्वीट किया गया (आर्काइव)।

https://twitter.com/PiyushSinghk/status/1121262306380402689

कई ‘चौकीदार’ हैंडल्स ने पीयूष का ट्वीट, रिट्वीट किया है।

यह वीडियो फेसबुक पर भी वायरल है, जहां कई व्यक्तिगत यूज़र्स ने इसी दावे के साथ पोस्ट किया है।

बंदूक नहीं, माइक

पीयूष के ट्वीट पर कई लोगों ने टिप्पणी की कि टीएमसी नेता ने बंदूक नहीं निकाली थी, बल्कि माइक उठाया था। इस वीडियो का सावधानीपूर्वक विश्लेषण करने से पता चला कि यह टिप्पणी वास्तव में सच थी। लाइव डिबेट का आयोजन ज़ी न्यूज़ ने पश्चिम बंगाल के कूच बिहार में किया था। टीएमसी नेता, जिन्होंने अपना आपा खो दिया और माइक उठाया, वह राज्य मंत्री रवीन्द्र नाथ घोष थे। नीचे पोस्ट किए गए स्लो-मोशन वीडियो में स्पष्ट दिखता है कि टीएमसी नेता के हाथ में मौजूद चीज़ माइक है।

प्रासंगिक हिस्से की तस्वीरों का एक संग्रह भी यह दिखलाता है कि घोष ने माइक पकड़ रखा है।

हालांकि, टीएमसी नेता का आचरण राष्ट्रीय टेलीविजन के लिए निस्संदेह अनुचित था, फिर भी, यह दावा कि एक जीवंत बहस के दौरान उन्होंने बंदूक निकाली, झूठा है। क्लिप्ड या संपादित वीडियो के माध्यम से, भ्रामक सूचनाओं को फैलाने के ऐसे मामले, उन्हें सावधानीपूर्वक देखकर आसानी से खारिज किए जा सकते हैं।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+