कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

फ़ेक न्यूज़ः उन्नाव बलात्कार पीड़िता की नहीं हुई मौत, सोशल मीडिया पर झूठी ख़बर वायरल

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

सोशल मीडिया में एक दावा व्यापक रूप से प्रसारित किया जा रहा है कि 28 जुलाई को उन्नाव बलात्कार केस की पीड़िता की कार एक ट्रक से टकराने के बाद उसने दम तोड़ दिया है।

संदेश के मुताबिक –“उन्नाव रेप पीड़िता अब नही रही। कोई ऐसा सोच भी नही सकता था कि न्याय के लिए एक बेटी को परिवार सहित मरना पड़ेगा। ऑपरेशन ट्रक सफल हुआ,अब कोई नई कहानी गढ़ी जाएगी,महिला हितों के लिए लंबे चौड़े भाषण दिए जाएंगे!काश की कार्यवाही जल्दी हुई होती! विधायक जी,योगीजीसहितपूरीयूपी सरकार को बधाई”

यह समान दावा फेसबुक और ट्विटर पर वायरल है।

कई उपयोगकर्ताओं ने एक घायल महिला की तस्वीर को भी साझा किया है, जो उन्नाव केस की पीड़िता होने का दावा कर रही है। इस तस्वीर को नवजीवन टाइम्स ने भी प्रकाशित किया था, जिसमें कथित रूप से 28 जुलाई को दुर्घटना के बाद उन्नाव पीड़िता की हालत दिखाई गई थी।

उन्नाव रेप पीड़िता का इलाज चल रहा है: KGMU

ऑल्ट न्यूज़ ने लखनऊ के किंग्स जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर से संपर्क किया जहां उन्नाव बलात्कार पीड़िता को भर्ती किया गया है। हमें वहां के PRO ने बताया कि वो ज़िंदा है, हालांकि उसकी हालत गंभीर है।

इसके अलावा, कई मीडिया संगठन ने बताया है कि बलात्कार पीड़िता जीवित है और वह वेंटिलेटर सपोर्ट पर है।

हाल ही में एक बयान में, लखनऊ डीएम ने बताया कि उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है।

बूमलाइव ने KGMU में मीडिया सेल के सह-संकाय प्रभारी डॉ.सुधीर से बात की, जिन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर प्रसारित घायल महिला की तस्वीर उन्नाव बलात्कार पीड़ित महिला की नहीं है। ऑल्ट न्यूज़ द्वारा इस बात का पता नहीं लगाया जा सका।

अंत में, सोशल मीडिया पर चल रहा दावा कि उन्नाव बलात्कार पीड़ित की मृत्यु हो गई है, गलत है, जबकि वह लखनऊ के KGMU अस्पताल में ज़िन्दगी से जूझ रही है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+