कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने पर काँग्रेसी कार्यकर्ताओं की पुलिस द्वारा पिटाई के गलत दावे करते कई विडियो

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

सोशल मीडिया पर तीन अलग अलग विडियो प्रसारित किये जा रहे है जो यह दावा करते है कि कांग्रेस की मीटिंग में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए गए जिसके कारण पुलिस को पार्टी के नेताओं पर लाठी-चार्ज करना पड़ा. उसके साथ में मराठी में यह लिखा गया है “काँग्रेस मिटींगमघ्ये पाकिस्तान झिंदाबाद,पोलीसांनी नेते ठोकले,द्या काँग्रेसला मत? उघडा डोळे,बघा निट…. बोला जय हिंद. (काँग्रेस की मीटिंग में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, पुलिस द्वारा नेताओं की पिटाई. क्या आप काँग्रेस को वोट देंगे? अपनी आँखे खोलिए और गौर से देखिये. बोलो जय हिंद।)” तीनों वीडियो इस शीर्षक के साथ शेयर किये गए हैं, उनको नीचे 1, 2 , 3  क्रमांक दिए गए हैं.

पहला विडियो

पहला वीडियो काँग्रेसी कार्यकर्ताओं  को एक कार्यक्रम के दौरान नारेबाजी करते हुए दिखा रहा है. उसे धर्मवीर छत्रपति संभाजी महाराजनामक एक फेसबुक पेज पर से 25,000 बार देखा गया है.

काॅग्रेस मिटींगमघ्ये पाकिस्तान झिंदाबाद,पोलीसांनी नेते ठोकले,द्या काँग्रेसला मत?उघडा डोळे,बघा निट…. बोला जय हिंद व्हीडिओ नं -१

धर्मवीर छत्रपती संभाजी महाराज ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶನಿವಾರ, ಫೆಬ್ರವರಿ 9, 2019

Alt News ने पहले भी इस विडियो का पर्दाफाश किया हुआ है जब मधु किश्वर ने यह विडियो ट्विट करते हुए दावा किया था कि काँग्रेसी कार्यकर्ताओ द्वारा ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाये गए थे.

यह विडियो 2018 के विधानसभा चुनाव शुरू होने से पहले से सोशल मिडिया पर फैलाया जा रहा है और पहले से ही बी.बी.सी. हिंदीAFPद टाइम्स ऑफ इण्डिया और इण्डिया टुडे जैसे कई मिडिया माध्यमो संगठनों द्वारा उसका पर्दाफाश किया जा चूका है.

अगर कोई इस विडियो को गौर से देखे तो मंच पर लगे बेनर पर ‘नगर काँग्रेस कमिटी राजसमन्द’ लिखा हुआ है, और दरअसल काँग्रेस कार्यकर्ताओ की भीड़ “मै लइ ललकार है, हमाकी सौ के पार है. भाटी साब जिंदाबाद। (हमने ये चुनौती स्वीकार की है. इस बार हम 100  से भी ज्यादा का आंकड़ा प्राप्त करेंगे. भाटी साब जिंदाबाद.)”

नारायण सिंह भाटी राजसमन्द, राजस्थान से कांग्रेस के उम्मीदवार हैं. Alt News ने उस विडियो से उस हिस्से को अलग किया है जिसमे भीड़ उनके नाम के नारे लगा रही है. उसे कई बार सुनने पर ‘भाटी साब जिंदाबाद’ ज्यादा स्पष्ट रूप से सुनाई देता है.

दूसरा विडियो

धर्मवीर छत्रपति संभाजी महाराज पेज ने समान शीर्षक के साथ एक दूसरा विडियो भी प्रसारित किया था उसे 55,000  से भी ज्यादा बार देखा गया है. यहाँ पुलिस को काँग्रेसी कार्यकर्ताओ के ऊपर टूट पड़ते देखा जा सकता है. यह फेसबुक पेज पुलिस के लाठी-चार्ज को उचित ठहराने के प्रयास में यह दावा करता है की काँग्रेसी कार्यकर्ता ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगा रहे थे.

काॅग्रेस मिटींगमघ्ये पाकिस्तान झिंदाबाद,पोलीसांनी नेते ठोकले,द्या काँग्रेसला मत?उघडा डोळे,बघा निट…. बोला जय हिंद व्हीडिओ नं -२

धर्मवीर छत्रपती संभाजी महाराज ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶನಿವಾರ, ಫೆಬ್ರವರಿ 9, 2019

अगर कोई इस विडियो को गौर से देखे तो मंच पर लगे बेनर पर ‘जिला काँग्रेस कमिटी बिलासपुर’ लिखा हुआ है.

पिछले साल 19 सितम्बर को बिलासपुर में छत्तीसगढ़ पुलिस ने काँग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं को पीटा था.

इस घटना को सारे मुख्य मिडिया चेनलों ने प्रतिवेदित किया था, और उनमें से किसी ने भी यह नहीं कहा था कि काँग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा पाकिस्तान को समर्थन देने वाले नारे लगाये गए थे.

Timesnow के अनुसार “एक चौंका देने वाली घटना में मंगलवार को छत्तीसगढ़ पुलिस ने बिलासपुर शहर में काँग्रेस कार्यकर्ताओ को बेरहमी से पीटा जिससे सात लोग घायल हुए. इस घटना के दृश्य दिखाते है कि शहरी प्रसाशन मंत्री अमर अग्रवाल के खिलाफ प्रदर्शन कर के लौटे हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओ पर पुलिस लाठियां बरसा रही है.” – (अनुवादित)

तीसरा विडियो

तीसरा और अंतिम विडियो सबसे ज्यादा प्रचलित हुआ है. यह भी धर्मवीर छत्रपति संभाजी महाराज द्वारा अन्य फेसबुक पेज और व्यक्तिगत युजर्स में प्रसारित किया गया था।(123) इस वीडियो में भी पुलिस उन लोगों को पिटते हुए नज़र आती है जिनके खिलाफ ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने का दावा किया जा रहा था.

https://www.facebook.com/maharaj1689/videos/245960839639632/

यह घटना पिछले साल बिलासपुर में काँग्रेसी कार्यकर्तओं पर हुए पुलिस के लाठी-चार्ज से सम्बंधित है जहाँ किसी भी  मीडिया रिपोर्ट ने यह दावा नहीं किया कि पार्टी के सदस्यों ने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए.

द टाइम्स ऑफ इण्डिया ने सूचित किया है कि “छत्तीसगढ़ के बिलासपुर शहर में मंगलवार को कथित तौर पर एक मंत्री के घर के अंदर कूड़ा फेंकने पर पुलिस द्वारा उनकी लाठियों से पिटाई के चलते सात 

घायल. विरोधी पक्ष का दावा है कि उनके कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से शहरी प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन उन्हें पुलिस द्वारा बेरहमी से पिटा गया.” -(अनुवादित)

काँग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने ट्विटर के माध्यम से पुलिस कि इस हरकत की निंदा की  थी.

पहले भी झूठी खबरों के ज़रिये कांग्रेस को पाकिस्तान समर्थक बता कर निशाना बनाया गया है. इसमें काँग्रेस की रैली में पाकिस्तानी झंडे फेहराने और पार्टी प्रमुख राहुल गाँधी द्वारा पाकिस्तान को 5000 करोड़ कि लोन देने के विचार का समर्थन देने के दावे भी शामिल है; ऐसे अनवरत दावे हैं.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+