कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

2018 का वीडियो बजरंगदल के सदस्यों द्वारा महिला से दुर्व्यवहार के झूठे दावे से शेयर

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल.

बिहार में बजरंग दल के गुंडों ने एक क्रिस्चियन महिला के कपडे उतारकर बीच बाजार में सरेआम पिटाई की इसको इतना सेर करो के वर्ल्ड ह्यूमन राइट्स और वुमन राइट्स कमीशन तक पहुंच जाये क्यूंकि इंडियन गवर्नमेंट सब कुछ जानते हुए भी लघुमति समुदायों के बचाव में कुछ नहीं करती

उपरोक्त संदेश को एक विचलित करने वाले वीडियो के साथ साझा किया गया है, जिसमें एक महिला को सड़क पर नग्न अवस्था में घुमाया जा रहा है और कुछ व्यक्तिओं द्वारा उसकी पिटाई भी की की जा रही है। ऑल्ट न्यूज़ इस वीडियो की संवेदनशीलता को देखते हुए लेख में प्रकाशित नहीं कर रहा है। इस वीडियो को ज़्यादातर व्हाट्सअप पर साझा किया जा रहा है।

यह वीडियो ट्विटर पर भी साझा किया गया है।

तथ्य जांच

कुछ कीवर्ड्स का इस्तेमाल करके, ऑल्ट न्यूज़ को इस घटना से जुड़े हुए कुछ लेख मिले और साथ में साझा किये गए दृश्यों के आधार पर हमने पाया कि यह घटना 2018 में बिहार में हुई थी। हालांकि, किसी भी लेख में इस बात का समावेश नहीं किया गया है कि इसके पीछे बजरंग दल के लोग ज़िम्मेदार थे।

यह घटना भोजपुर जिले के बिहिया नगर में हुई थी। लेखों के मुताबिक, इस महिला पर एक लड़के की हत्या में शामिल होने का शक था, जिसका शव रेलवे स्टेशन के पास मिला था। इसके परिणामस्वरूप विरोध प्रदर्शन हुआ, और पास में रेड लाइट एरिया में रहने वाली महिला को भी इसमें घसीटा गया और सड़क पर उसके साथ अभद्र व्यव्हार किया गया। .

इसके अतिरिक्त, यह ध्यान देने लायक बात है कि RJD के नेता, कौशल किशोर यादव उन 16 लोगों में से थे, जिन्हें बिहिया में हुई हिंसा के लिए गिरफ्तार किया गया था। इसलिए यह कहा जा सकता है कि बजरंगदल के सदस्यों ने यह हमला किया था, इस बात का कोई भी सबूत मौजूद नहीं है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+