कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

‘दिल्ली की बेमिसाल मुख्यमंत्री थीं शीला दीक्षित’: कांग्रेस नेता के निधन पर राजनेताओं सहित पत्रकारों की अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि

शिला दीक्षित के अचानक निधन से देशभर में शोक की लहर छा गई है.

कांग्रेस की दिग्गज नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का आज (20 जुलाई) को निधन हो गया. वह 81 साल की थी.

शीला दीक्षित लंबे समय से बीमार चल रही थीं. शनिवार को उन्हें कार्डियक अरेस्ट  (हृदय की धड़कनों का अनियंत्रित होना) की परेशानी हुई थी जिसके बाद उन्हें फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

शीला दीक्षित ने 15 साल (1998 से लेकर 2013) तक दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में काम किया. शीला दीक्षित को दिल्ली का चेहरा बदलने का श्रेय दिया जाता है.

कई लोग उन्हें दिल्ली के सबसे अच्छे मुख्यमंत्रियों में से एक मानते हैं. लोगों ने शिला दीक्षित के शासन में राजधानी के विकास की प्रशंसा की. शहरी बुनियादी ढांचे से लेकर दिल्ली मेट्रो तक उनके कार्यकाल की देन है.

शीला दीक्षित के अचानक निधन से देशभर में शोक की लहर छा गई है. पीएम मोदी, राहुल गांधी, विपक्षी नेताओं, अभिनेताओं समेत आम जनता ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है.

राहुल गांधी ने शीला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, “वो कांग्रेस की चहेती बेटी थीं. दुख की इस घड़ी में मेरी उनके परिवार और दिल्ली के नागरिकों के प्रति संवेदना है. अपने तीन कार्यकालों में उन्होंने काफी अच्छा काम किया. मैं शीला दीक्षित के निधन से बेहद दुखी हूं.”

प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली की पूर्व सीएम के निधन पर दुःख प्रकट करते हुए लिखा, “शीला दीक्षित जी के निधन से गहरा दुःख हुआ. शीला दीक्षित शानदार व्यक्तित्व की धनी महिला थीं. उन्होंने ने दिल्ली के विकास में अहम योगदान दिया. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना. ओम शांति.”

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक व्यक्त करते हुए कहा, “दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और एक वरिष्ठ राजनेता श्रीमती शीला दीक्षित के निधन के बारे में जानकर दुःख हुआ. उनका कार्यकाल राजधानी दिल्ली के लिए महत्वपूर्ण परिवर्तन का दौर था जिसके लिए उन्हें याद किया जाएगा. उनके परिवार व सहयोगियों के प्रति मेरी शोक-संवेदनाएं.”

पूर्व कैबिनेट मंत्री अजय माकन ने शीला जी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए लिखा, “विश्वास करना मुश्किल है मेरी गुरु और मां जैसी शख्सियत शीला दीक्षित जी अब नहीं रही. दिल्ली उनके योगदान को कभी नहीं भूल सकती. मैं हमेशा उनका शुक्रगुजार रहूंगा कि उन्होंने मुझे एक युवा राजनेता के रुप मे तैयार किया और अपने मार्गदर्शन में मुझ सीखने का अनुभव दिया. ओम शांति.”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शीला दीक्षित के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, “दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री अब नहीं रही. शाली दीक्षित के जाने का गहरा दुख हुआ. वह एक बड़ी कांग्रेसी नेता थी जो अपने सौम्य स्वभाव के लिए जानी जाती थी. शीला जी का पार्टी लाइन से अलग भी काफी सम्मान किया जाता था.”

पत्रकार निधि राजदान ने ट्वीट कर लिखा, “शील दीक्षित के निधन के बारे में जानकर काफी दुख हुआ. वह एक बहुत अच्छी व्यक्ति थी, हमेशा पत्रकारों से कहा कि वे पहले भोजन करें और फिर काम करें. हम आपको याद करेंगे. आपकी आत्मा को शांति मिले.”

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा,  “शीला दीक्षित के निधन के बारे में बेहद भयावह ख़बर मिली. यह दिल्ली के लिए बहुत बड़ी क्षति है और उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा. उनके परिवार के सदस्यों के प्रति मेरी संवेदनाएं है. उनके आत्मा को शांति मिले.”

अभिनेता अक्षय कुमार ने शिला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, “शीला दीक्षित जी के निधन के बारे में जानकर बेहद दुख हुआ. उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान दिल्ली को प्रभावी रुप से बदल दिया. उनके परिवार के प्रति हार्दिक संवेदना.”

पूर्व क्रिकेटर विरेन्द्र सहवाग ने भी शोक व्यक्त करते हुए लिखा,  “शील दीक्षित जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति हार्दिक संवेदना.”

एक ट्विटर  यूजर रिया ने शीला दीक्षित के निधन पर दुःख व्यक्त किया और लिखा, “यह चौकाने वाला है. दिल्ली को बदलने वाली महिला शीला दीक्षित जी के आत्मा को शांति मिले.”

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+