कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

गाजियाबादः सीवर की सफाई के दौरान 5 कर्मचारियों की मौत

पिछले तीन साल में देश भर में सीवर की सफाई करते हुए 88 मजदूरों की मौत हुई है.

गाजियाबाद के नंदग्राम इलाके में गुरुवार को सीवर में सफाई के दौरान पांच सफाई कर्मचारियों की दम घुटने से मौत हो गई है. पांचों मृतक बिहार के समस्तीपुर ज़िले के रहने वाले थे.

गाजियाबाद में नंदग्राम में प्राइवेट कॉलोनी कृष्णाकुंज में गुरुवार को सफाई के लिए 13 फुट गहरे सीवर में उतरे पांच सफाई कर्मियों की दम घुटने से मौत हो गई. मृतकों के शवों को दोपहर 2 बजे बाहर निकाला गया. पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

इससे पहले जून में गुजरात के वडोदरा में एक सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान 7 सफाई मजदूरों की मौत हो गई थी.

पिछले महीने केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले ने राज्यसभा में बताया था कि पिछले तीन साल में देश भर में सीवर और सेप्टिक टैंकों की सफाई करते हुए 88 मजदूरों की मौत हुई है.

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग (एनसीएसके) के मुताबिक जनवरी, 2017 से सितंबर, 2018 के बीच हर पांच दिन में एक सफाई कर्मचारी की मौत हुई है. आंकड़ों के मुताबिक अधिकतर सफाई कर्मी लगभग 32 वर्ष की आयु में अपनी जान गंवा चुके हैं. जो अधिकांश परिवारों में एकमात्र कमाने वाले व्यक्ति थे.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+