कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

गुजरात में हिंदीभाषियों पर एक बार फिर हमला, लुंगी पहनने को लेकर हुई मारपीट

यह सभी लोग बिहार के मधुबनी ज़िले के रहने वाले हैं।

गुजरात में हिंदी भाषियों पर हमले की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला वडोदरा के सामा इलाके का है। यहां सोमवार की शाम बिहार के 7 कामगारों के साथ स्थानीय लोगों ने मारपीट की। साथ ही आरोपियों ने एक बाइक को भी आग के हवाले कर दिया। यह सभी लोग बिहार के मधुबनी ज़िले के रहने वाले हैं।
एक रिपोर्ट के अनुसार सिविल इंजीनियर शत्रुघ्न यादव और 6 प्लंबर वडोदरा नगर निगम के एक विद्यालय में कंस्ट्रक्शन साइट पर काम कर रहे थे। सोमवार की शाम में वे सभी एक इमारत के बाहर बैठे थे तभी तीन स्थानीय आदमी वहां पहुंचे और उनके पहनावे को लेकर सवाल करने लगे, क्योंकि काम करने वाले लोगों ने लुंगी पहन रखी थी। इसके बाद दोनों दलों के बीच बहस हुई और बाद में मारपीट की नौबत आ गई।
शत्रुघ्न ने सहायता के लिए पुलिस को फ़ोन किया। इसके बाद तीनों आरोपी भाग गए। साथ ही उन सभी को शहर छोड़कर चले जाने की धमकी भी दे गए। हालांकि, पुलिस ने कयूर परमार नामक एक आरोपी को पकड़ लिया है। पुलिस कमिश्नर अनुपम सिंह गहलोत ने बताया, “कुछ दिनों से, स्थानीय लोग प्रवासियों को लुंगी पहनकर बैठने को लेकर चेतावनी दे रहे थे, लेकिन उन्होंने ध्यान नहीं दिया। सोमवार की रात को स्थानीय लोगों और प्रवासियों के बीच बहस के बाद हाथापाई हो गई।”
ज्ञात हो कि गुजरात के साबरकांठा ज़िले में 28 सितंबर को 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार और बिहार के रहने वाले श्रमिक को बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के बाद लगातार हिंदी भाषी लोगों पर हमले और हिंसा की घटनाएं सामने आ रही हैं।
You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+