कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

विदेशी अख़बार गल्फ़ न्यूज़ ने नहीं उड़ाया राहुल गांधी का मजाक, सोशल मीडिया पर अफ़वाह फैला रहे PM मोदी के शागिर्द

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

“विदेश में जाकर अपने देश की इज्जत नीलाम करने वालों को इसी प्रकार इज्जत मिलती है जैसी अबू_धाबी के दैनिक अखबार @gulf_news ने RahulGandhi को पप्पू की फोटो छापकर दी है।”

उपरोक्त संदेश के साथ, एक कार्टून की तस्वीर, जिसे साझा करते हुए यह दावा किया जा रहा है कि गल्फ न्यूज़ ने प्रकाशित किया है, सोशल मीडिया पर चल रही है। 9 जनवरी के इस अखबार के क्लिप में कांग्रेस अध्यक्ष का यह कार्टून इस संदेश के साथ देखा जा सकता है — “हाऊ ‘पप्पू’ लेबल” (HOW ‘PAPPU’ LABEL)। भाजपा संचार प्रकोष्ठ की राज्य कार्यकारिणी के पूर्व सदस्य अमित पटेल ने इस पेपर क्लिप का फोटो, यह दर्शाते हुए ट्वीट किया कि गल्फ न्यूज़ ने राहुल गांधी को ‘पप्पू’ कहते हुए प्रकाशित की है। पटेल को ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फॉलो करते हैं। एक और ट्विटर हैंडल, @ManishKBJP जिसे पीएम मोदी फॉलो करते हैं, ने भी यह तस्वीर इस संदेश के साथ ट्वीट की है।

पोस्टकार्ड न्यूज़ के संस्थापक महेश विक्रम हेगड़े और गौरव प्रधान जिन्हें पीएम मोदी ट्विटर पर फॉलो करते हैं, उन्होंने भी इस तस्वीर को गुमराह करने वाले दावे से ट्वीट किया है।

फेसबुक और ट्विटर पर कई सोशल मीडिया यूजर्स ने इस संदेश के साथ इस तस्वीर को शेयर किया है।

गलत विवरण

हमने 9 जनवरी को प्रकाशित दुबई के अंग्रेजी दैनिक अखबार गल्फ न्यूज़ का पीडीएफ संस्करण देखा। यह दावा, कि राहुल गांधी के कार्टून के साथ उनको ‘पप्पू’ बुलाकर, गल्फ न्यूज़ उनका मजाक उड़ा रहा था, झूठा है। उस कार्टून के साथ दिया गया पूरा कैप्शन यह था — “कैसे पप्पू के लेबल ने राहुल को बदला” (HOW PAPPU LABEL HAS CHANGED RAHUL)।

राहुल गांधी द्वारा हस्ताक्षरित वह कार्टून, अखबार को दिए गए उनके खास इंटरव्यू के साथ प्रकाशित हुआ था।

यूएई संपादक बॉबी नक़वी को दिए इंटरव्यू में, राहुल गांधी ने रोजगार सृजन, अर्थव्यवस्था और राष्ट्रवाद के मुद्दों पर बात की। विरोधियों द्वारा ‘पप्पू’ का लेबल लगाए जाने को लेकर नक़वी ने गांधी से एक सवाल पूछा था।

नक़वी : क्या ‘पप्पू’ का लेबल आपको परेशान करता है? – (अनुवादित)

गांधी : “मैंने जो सबसे अच्छा उपहार पाया है, वह 2014 था। मैंने इससे इतना सीखा है जितना मैं किसी और चीज से नहीं सीख पाया। मेरे विरोधी मेरी जिंदगी को ज्यादा से ज्यादा कठिन करते हैं, यह मेरे लिए जितना मुश्किल है, उतना ही मेरे लिए अच्छा है। मैं इस [पप्पू] से परेशान नहीं हूँ। मैं विरोधियों के हमलों की सराहना करता हूं और मैं उनसे सीखता हूं।” – (अनुवादित)

संपादक ने दावों को खारिज किया

ऑल्ट न्यूज़ ने सोशल मीडिया में वायरल भ्रामक दावों को लेकर बॉबी नक़वी से संपर्क किया। उन दावों को खारिज करते हुए नक़वी ने कहा, “ये ट्वीट, जैसा कि हम जानते हैं, झूठ को फैलाने और मुद्दों से भटकाने के लिए किया जाता है। यह कहना गलत है कि गल्फ न्यूज़ ने कांग्रेस अध्यक्ष का वर्णन करने के लिए इस लेबल का उपयोग किया है।” – (अनुवादित) इसके अलावा, नकवी ने इस लेबल को लेकर सवाल पूछने का कारण बताते हुए कहा, “यह सवाल इसलिए पूछा गया, क्योंकि पिछले पांच वर्षों में राहुल गांधी की एक विशेष छवि बनाने के लिए, उनके विरोधियों द्वारा इस लेबल का उपयोग किया गया है और एक पत्रकार के रूप में मैंने उनसे उनके विचार जानने के लिए यह पूछा।”- (अनुवादित)

निष्कर्ष : यह दावा कि गल्फ न्यूज़ ने राहुल गांधी को ‘पप्पू’ कहा, झूठा और गलत है। साक्षात्कारकर्ता तो बस, विरोधियों द्वारा ‘पप्पू’ प्रचारित किए जाने पर, राहुल गांधी का दृष्टिकोण जानना चाहते थे।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+