कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

भाजपा ने की आचार संहिता की ऐसी-तैसी: रेलवे की चाय पर लग गया “मैं भी चौकीदार” का ठप्पा

ट्वीट वायरल होने पर रेलवे ने कहा कि उसने कप हटा लिए हैं और ठेकेदार को दंडित किया है.

जैसे-जैसे चुनाव की तारीखें नजदीक आ रही है वैसे-वैसे बीजेपी आचार संहिता को तार-तार करने में लगी है. चुनाव प्रचार के लिए सरकारी धन का दुरुपयोग बहुत धड़ल्ले से किया जा रहा है.

दो दिन पहले ही रेलवे टिकट पर मोदी की तस्वीर लगाने को लेकर चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर भाजपा सरकार से जवाब मांगा था. लेकिन वायरल हुई नई तस्वीर बताती है कि केंद्र की मोदी सरकार को इससे कुछ फर्क नहीं पड़ता, वो लगातार आचार संहिता का उल्लंघन करती रहेगी.

ताज़ा मामले में भारतीय रेलवे की शताब्दी एक्सप्रेस में यात्रियों को जो चाय दी जा रही है उसके कप पर ‘मैं भी चौकीदार’ का लेबल चस्पां किया गया है. इसके साथ ही उस पर मोदी सरकार के द्वारा किए जा रहे दावों “आतंकवाद से राष्ट्र की सुरक्षा, सैनिकों का सम्मान जैसे…”  को भी अंकित किया गया है.

एक पत्रकार ने इस तस्वीर को फ़ेसबुक पर शेयर करते हुए लिखा है कि “रेलवे शताब्दी में इस तरह चाय वितरित कर रहा है ताकि आप इसे कूड़ेदान में फेंक सकें.”

हालांकि काठगोदाम शताब्दी एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे एक यात्री द्वारा पेपर कप की तस्वीर के साथ किया गया ट्वीट वायरल होने पर रेलवे ने कहा कि उसने कप हटा लिए हैं और ठेकेदार को दंडित किया है.

आईआरसीटीसी के एक प्रवक्ता ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘उन खबरों की जांच की गई जिनमें कहा गया कि ‘मैं भी चौकीदार’’ लेबल वाले कपों में चाय दी गई. यह आईआरसीटीसी की बिना पूर्व मंजूरी के किया गया। सुपरवाइजर/पैंट्री प्रभारियों से ड्यूटी में लापरवाही बरतने को लेकर स्पष्टीकरण मांगा गया है.’’

बता दें कि चुनाव आयोग ने भाजपा को ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान में सैनिकों का इस्तेमाल नहीं करने की हिदायत दी थी. लेकिन इस चाय के प्याल को देखें तो इसमें सैनिकों की सम्मान की बात भी अंकित की गई है. अब सवाल एक बार फिर उठता है कि भाजपा द्वारा बार-बार आचार संहिता के उल्लंघन के बाद आयोग एक ठोस कदम कब उठाएगा.

पीटीआई इनपुट्स पर आधारित

न्यूज़सेंट्रल24x7 को योगदान दें और सत्ता में बैठे लोगों को जवाबदेह बनाने में हमारी मदद करें
You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+