कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

राजस्थान में जीका वायरस से प्रभावित लोगों की संख्या बढ़कर 51 हुई

जीका वायरस से प्रभावित होने का सबसे पहला मामला 22 सितंबर को आया था।

राजस्थान की राजधानी में जीका मरीजों की संख्या बढ़कर 51 पहुंच गई है। इसबीच राष्ट्रीय मलेरिया अनुसंधान संस्थान (एनआईएमआर) की एक टीम ने जयपुर के विभिन्न हिस्सों से मच्छरों के नए नमूने एकत्र किए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि कुल 50 मरीजों में जीका वायरस की जांच के नतीजे सकारात्मक आए हैं। इनमें से 11 गर्भवती महिलाएं हैं। शास्त्री नगर इलाके के बाद पड़ोस के सिंधी कैंप में राजपूत हॉस्टल में रहने वाले तीन छात्रों की जांच के नतीजे सकारात्मक आए हैं।

वायरस से प्रभावित होने का सबसे पहला मामला 22 सितंबर को आया था जब 85 वर्षीया महिला की जांच के नतीजे सकारात्मक आए। महिला ने पूर्व में कहीं की यात्रा भी नहीं की थी। वायरस का प्रसार रोकने के लिए शास्त्री नगर इलाके में धुएं का छिड़काव किया गया और लार्वा पनपने से रोकने के लिए विभिन्न उपाए किये जा रहे हैं।

इससे पहले स्वास्थ्य विभाग  के एक अधिकारी ने कहा था कि 30 मामले में उपचार के बाद मरीजों की स्थिति ठीक हो रही है। जयपुर में निगरानी टीमों की संख्या 50 से बढ़ाकर 170 कर दी गयी है और जीका वायरस प्रभावित मरीजों के उपचार के लिए हीरा बाग प्रशिक्षण केंद्र में अलग से एक विशेष वार्ड बनाया गया है ।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+