कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

जम्मू-कश्मीरः भद्रवाह घाटी में 1 व्यक्ति की हत्या, सामुदायिक सदस्यों ने किया हिंसक प्रदर्शन, कर्फ्यू जारी

कस्बे के संवेदनशील इलाकों में कानून व्यवस्था कायम रखने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा कर्मियों के अलावा सेना तैनात की गई है.

जम्मू कश्मीर में डोडा जिले की भद्रवाह घाटी में एक व्यक्ति की हत्या के खिलाफ समुदाय के सदस्यों के हिंसक प्रदर्शन के बाद दूसरे दिन शुक्रवार को भी कर्फ्यू लगा हुआ है.

डोडा जिला प्रशासन ने मीडिया में आई इन खबरों का खंडन किया है कि हत्या की वजह गोरक्षक थे. उन्होंने कहा कि कुछ लोग इस घटना को साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं.

कस्बे के संवेदनशील इलाकों में कानून व्यवस्था कायम रखने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा कर्मियों के अलावा सेना तैनात की गई है. डोडा के उपायुक्त सागर दोईफोडे ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘कस्बे में कर्फ्यू जारी है. कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है. स्थिति नियंत्रण में है.’’

कस्बे में डेरा डाले हुए सागर ने बताया कि उन्होंने मृतक के परिवार से बात की है और वे लोग इस मामले में की गई कार्रवाई से संतुष्ट हैं. उन्होंने बताया कि आठ लोगों को हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है और पुलिस मामले की जांच कर रही है.

मीडिया के एक धड़े में आई खबरों का खंडन करते हुए सागर ने कहा, ‘‘यह गोरक्षा का मामला नहीं है. यह इस तरह की घटना नहीं है. कुछ लोग जानबूझ कर इसे साम्प्रदायिक रंग दे रहे हैं.’’ उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और लोगों से कोई अफवाह नहीं फैलाने को कहा.

जम्मू क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक एम के सिन्हा ने बृहस्पतिवार को कहा था कि नईम नाम का एक व्यक्ति आधी रात को चतरगाला से आ रहा था. जब वह नालथी इलाके के पास पहुंचा, तब उसकी हत्या कर दी गई और उसके साथ मौजूद एक अन्य व्यक्ति छर्रे (गोलीबारी में) से घायल हो गया.

उन्होंने बताया कि कथित तौर पर गोली चलाने वाले दो संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया गया है और पांच अन्य को हिरासत में लिया गया है. हत्या की इस घटना को लेकर प्रदर्शन हुए और काफी संख्या में समुदाय के लोगों ने भद्रवाह पुलिस थाना पर पथराव किया. प्रदर्शनकारियों ने दूसरे समुदाय के परिसरों पर भी पथराव किया.

अंजुमन ए इस्लामिया, भद्रवाह के प्रमुख परवेज अहमद शेख ने बंद का आह्वान किया है और हत्या की इस घटना के पीछे भगवा संगठनों का हाथ होने का आरोप लगाया है.

वहीं, सनातन धर्म सभा, जम्मू ने हिंसक प्रदर्शनों की निंदा की और आरोप लगाया कि इलाके के अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है. हालात का जायजा लेने के लिए प्रशासन, पुलिस और सेना के वरिष्ठ अधिकारी भद्रवाह में डेरा डाले हुए हैं.

न्यूज़सेंट्रल24x7 को योगदान दें और सत्ता में बैठे लोगों को जवाबदेह बनाने में हमारी मदद करें
You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+