कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

EXCLUSIVE: लोकसभा में दिए गए अपने जवाब से पलट गई मोदी सरकार, वेबसाइट पर चालाकी से बदल दिया जवाब

कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा किसानों से किए गए वादे महज़ जुमला हैं.

लोकसभा में सरकार के एक मंत्री ने कहा था कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय के पास कोई योजना नहीं है, लेकिन अब मीडिया रिपोर्टों के सामने आने के बाद बड़ी चालाकी से सरकार ने अपना जवाब बदल दिया है.

लोकसभा में किसानों की आय दोगुनी करने संबंधी जवाब में मोदी सरकार ने फ़ेरबदल किया है. सांसद आर पार्थियन और जोएस जॉर्ज ने मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति से पूछा था कि क्या किसानों की आय दोगुनी करने की कोई योजना खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय बना रहा है. इसका जवाब साध्वी निरंजन ज्योति ने “नहीं” में दिया था.

समाचार वेबसाइट एनडीटीवी इंडिया ने 19 दिसंबर को यह रिपोर्ट की थी कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने किसानों की आय दोगुनी करने की किसी भी योजना से इनकार कर दिया है. लोकसभा में सवाल संख्या 1375 के जवाब में सरकार ने 18 दिसंबर को यह बात कही थी. एनडीटीवी ने अपने ख़बर के साथ सरकार के उत्तर का स्क्रीनशॉट भी लगाया था. लेकिन, अब लोक सभा की वेबसाइट पर जवाब को बदल दिया है.

न्यूज़सेंट्रल24X7 ने जब लोकसभा वेबसाइट को खंगाला तब पाया गया कि जवाब के शुरुआत से “जी नहीं महोदया” संबोधन को ग़ायब कर दिया गया है.

इस मामले में कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी का कहना है कि यह फेरबदल कोई आश्चर्य की बात नहीं है. जो सरकार किसानों के हित में काम करने का दिखावा करती है उसके लिए इस तरह पलटी मारना शायद ही आश्चर्य की बात हो.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा किसानों से किए गए वादे महज़ जुमला हैं. उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री ने अभी तक किसानों से जितने भी वादे किए हैं सब के सब झूठ साबित हुए हैं. चाहे न्यूनतम समर्थन मूल्य देने की बात हो या सूखा पीड़ित किसानों को राहत देने की बात, कर्ज़ माफ़ी हो या आय को दोगुना करने का वादा सब के सब महज़ जुमला हैं. जो सरकार किसानों की हालत सुधारने के नाम पर सत्ता में आई थी वह अब सूट बूट की सरकार बन गई है, जिसका एक ही ध्येय है- “कॉरपोरेट का, कॉरपोरेट द्वारा, कॉरपोरेट के लिए”

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+