कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

मध्य प्रदेश: प्रवीण कक्कड़ के ठिकानों पर आयकर छापा, कमलनाथ ने कहा- लाभ लेने के लिए भाजपा कर रही है ऐसी कार्रवाई

आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को अपनी हार सामने नज़र आने लगी है.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने पूर्व ओसडी प्रवीण कक्कड़ और उसके सहयोगी अश्विनी शर्मा के ठिकानों पर रविवार सुबह से जारी आयकर विभाग के छापों पर कहा कि भाजपा को आगामी लोकसभा चुनाव में अपनी हार सामने नजर आ रही है इसलिये चुनाव में लाभ लेने के लिये इस तरह की कार्रवाई की जा रही है.

मध्यप्रदेश कांग्रेस की मीडिया शाखा के समन्वयक नरेन्द्र सलूजा के जरिये जारी अपने बयान में कमलनाथ ने कहा, ‘‘आयकर छापों की सारी स्थिति अभी स्पष्ट नहीं हुई है. सारी स्थिति स्पष्ट होने पर ही इस पर कुछ कहना उचित होगा. लेकिन पूरा देश जानता है कि संवैधानिक संस्थाओं का किस तरह व किन लोगों के ख़िलाफ़ एवं कैसे इस्तेमाल ये लोग पिछले पांच वर्षों में करते आये हैं. इनका उपयोग कर डराने का काम करते हैं. जब इनके पास विकास पर, अपने काम पर कुछ कहने को, बोलने को नहीं बचता है तो ये विरोधियों के ख़िलाफ़ इस तरह के हथकंडे अपनाते हैं.’’

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आगे कहा, ‘‘जब आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को अपनी हार सामने नज़र आने लगी है तो इस तरह की कार्रवाई को जानबूझकर चुनाव में लाभ लेने के लिये की जाने लगी है. पिछले विधानसभा चुनाव में भी इन्होंने इसी तरह के सभी हथकंडे अपनाये थे. कई राजनैतिक दल व कई राज्य पिछले पांच वर्ष में इनके द्वारा अपनाये गये हथकंडो के गवाह हैं. हम भी इसके लिये तैयार थे. हर चीज़ की निष्पक्ष जाँच हो. इस तरह के हथकंडों से हमें कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता है.’’

उन्होंने कहा कि इन घटनाओं से विकास के पथ पर हमारे क़दम रुकेंगे नहीं, डिगेंगे नहीं, हम डरेंगे नहीं अपितु और तेज़ी से विकास के पथ पर हम अग्रसर होंगे.

कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश की जनता सब सच्चाई जानती है और आगामी लोकसभा चुनाव में प्रदेश की जनता इन हरकतों का मुँहतोड़ जवाब देगी.

वहीं, दूसरी ओर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने आयकर छापे में कक्कड़ के ठिकानों से नौ करोड़ रुपये बरामद होने के सवाल पर खंडवा जिले में पत्रकारों से कहा, ‘‘मुझे जानकारी नहीं है.’’

भाजपा के आरोप कि चौकीदार को जो चोर बोलते हैं उनके घर से ही करोड़ों रुपये निकल रहे हैं, के सवाल पर दिग्विजय ने शिवराज सिंह चौहान का नाम लिये बगैर कहा, ‘‘मामा मामी के घर और अमित शाह के यहां छापा पड़ता तो पता नहीं कितने करोड़ मिलते. हजारों करोड़ मिलते.’’

मालूम हो कि आयकर विभाग ने रविवार सुबह को मुख्यमंत्री कमलनाथ के पूर्व ओएसडी प्रवीण कक्कड़ और उनके सहयोगियों के इन्दौर, भोपाल और अन्य ठिकानों पर छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया है और यह अब भी जारी है. आयकर विभाग ने फिलहाल इसका खुलासा भी नहीं किया है कि अब तक कितनी राशि या दस्तावेज बरामद किये गये हैं.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+