कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

फ़ेक न्यूज़ः मलेशिया में बीच सड़क पर नमाज़ पढ़ रहे व्यक्ति का विडियो, भारत का बताकर सोशल मीडिया पर वायरल

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल

“इस विडियो को गौर से देखें…क्या यह दंगा कराने के मकसद से नमाज नहीं पढ़ रहा”– इस संदेश के साथ एक वीडियो को पुष्पेन्द्र कुलश्रेष्ठ नामक उपयोगकर्ता ने ट्वीट किया है, जिसमें एक व्यक्ति सड़क के बीच में नमाज़ पढ़ रहा है। इस ट्वीट को 2,800 से ज़्यादा बार रीट्वीट और 4,400 बार लाइक किया गया है।

कई व्यक्तिगत उपयोगकर्ता ने इस वीडियो को भारत का बताकर साझा किया है।

यह वीडियो मलेशिया का है

ऑल्ट न्यूज़ ने पता लगाया कि यह वीडियो मलेशिया का है, ना कि भारत का। वीडियो में दिखाई दे रहे दो होर्डिंग में जो  फ़ोन नंबर दिख रहे हैं, उसे हमने मलेशिया की एक बिज़नेस वेबसाइट Emhub.com पर पाया।

हमने पाया कि यह वीडियो दिसंबर 2018 से सॉशल मीडिया में साझा किया जा रहा है। ट्विटर पर एक व्यक्तिगत उपयोगकर्ता, जिसका नाम अब्दिल्लाह तोहा है, जिसने इस वीडियो को 12 दिसंबर, 2018 को पोस्ट किया था। यह पहले के उन उदाहरणों में से है, जिसका ऑल्ट न्यूज़ ने पता लगाया है।

 

मलेय भाषा में प्रकाशित हुए लेख के मुताबिक, इस वीडियो के सोशल मीडिया में वायरल होने से कुछ दिन बाद ही, जिसमें दावा किया गया है कि यह वीडियो मलेशिया के क्लैंग वैली के “स्प्रिंट हाईवे” में लिया गया था। इसके अलावा, वीडियो में वहां से गुज़रने वालों को भी मलेय भाषा में बोलते हुए सुना जा सकता है। सड़क पर से गुज़रने वाले एक व्यक्ति को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि,“भाई, आप यहां पर क्या कर रहे है? आप यहां पर क्यों नमाज़ पढ़ रहे है? आप यहां पर मर भी सकते है? -(अनुवाद)”

 

ऑल्ट न्यूज़ ने गूगल मैप्स पर स्प्रिंट हाईवे पर लगे स्कॉटलैंड गैलरी (बिज़नेस होर्डिंग) को स्ट्रीट व्यू से देखा।

 

स्प्रिंट हाइवे के रास्ते में, हमें एक सटीक स्थान मिला जहां पर यह वीडियो लिया गया था।

नीचे दी गई तस्वीरों में, वीडियो में दिखाई दे रहे ढांचे के जैसे ही संरचनाओं को देखा जा सकता है।

1. एक झोपड़ी

2. दो होर्डिंग, जो एक दूसरे के पीछे लगे हुए है

3. विज्ञापन बोर्ड जिसे सड़क के डिवाइडर पर तिरछा रखा हुआ हैं [नीचे की तस्वीर पर क्लिक करके उन्हें पूरा देख सकते है]

इन संरचनाओं की तुलना आप गूगल मैप्स के स्ट्रीट व्यू पर मौजूद हाईवे के दृश्यों पर देखा जा सकता है। एक फ्रेम के स्क्रीनशॉट को नीचे दिया गया है।

इस प्रकार, ऑल्ट न्यूज़ स्वतंत्र रूप से यह स्थापित कर सकता सकता है कि यह वीडियो मलेशिया का है, भारत का नहीं।

मलेशिया की एक घटना जहां पर एक व्यक्ति सड़क पर नमाज पढ़ रहा है, भारत के एक मुस्लिम व्यक्ति के रूप में गलत तरीके से कि वो सड़क पर नमाज़ पढ़कर राहगीरों के जीवन को खतरे में डाल रहा था।

आकिब खान के सहयोग से।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+