कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

#MeToo: एमजे अकबर के ख़िलाफ़ 33 महिला पत्रकारों के सामने आने के बाद अब 4 पुरुष पत्रकारों ने पीड़िताओं को दिया समर्थन

पत्रकार लगातार पात्रा से सवाल करते रहे लेकिन वे हाथ जोड़कर वहाँ से निकल गए।

केंद्रीय मंत्री एम जे अकबर पर महिला पत्रकारों द्वारा लगाये गए यौन उत्पीड़न के आरोपों पर मोदी सरकार की चुप्पी तो नज़र आ ही रही थी पर अब भाजपा के प्रवक्ता भी सवालों से बचकर भागते दिख रहे हैं।

हाल ही में एक कार्यक्रम के बाद भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा से जब एक पत्रकार ने अकबर पर लगे आरोपों के बारे में पूछा तो उन्होंने न सिर्फ उस सवाल को अनसुना कर दिया बल्कि सीधे अपनी गाड़ी की तरफ भाग निकले। पत्रकार लगातार पात्रा से सवाल करते रहे लेकिन, वे हाथ जोड़कर वहाँ से निकल गए।

ज्ञात हो कि अब तक करीब 33 महिला पत्रकार अकबर के ख़िलाफ़ सामने आ चुकी हैं। फिर भी मोदी सरकार और भाजपा के दिग्गज नेता इस मामले पर पूरी तरह आँखे मूंदे बैठे हैं। देश के एक केंद्रीय मंत्री पर यौन उत्पीड़न के इतने गंभीर आरोप लगे हैं और सत्ताधारी मोदी सरकार इस पर किसी भी तरह की कार्रवाई करने से बच रही है।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+