कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

भाजपा नेता की गुंडागर्दी: मेरठ की दलित महिला के साथ मारपीट के बाद कपड़े फाड़े, पति को भी बुरी तरह मारा

दिग्विजय सिंह की कार ने बाइक सवार दंपत्ति को टक्कर मार दी थी. जब उन्होंने इसका विरोध किया तो भाजपा नेता समेत उसके 2 कार्यकर्ताओं ने दंपत्ति के साथ मारपीट को अंजाम दिया.

उत्तर प्रदेश के मेरठ में भाजपा नेता दिग्विजय सिंह की खुलेआम गुंडागर्दी की ताज़ा घटना सामने आई है. दिग्विजय सिंह ने एक दारोगा के बेटे और बहु के साथ मारपीट को अंजाम दिया और महिला की गरिमा का ध्यान न रखते हुए सरेआम उनके कपड़े फाड़ दिए.

नवजीवन की ख़बर के अनुसार बीते सोमवार को दरोगा तेज बहादुर सिंह के बेटे प्रशांत वरुण अपनी पत्नी के आरती के साथ डॉक्टर के क्लीनिक जा रहे थे. इस दौरान सिविल लाइन थानाक्षेत्र के मेघदूत पुलिया के चौराहे पर भाजपा नेता दिग्विजय सिंह की स्कार्पियो कार ने दंपत्ति की बाइक को टक्कर मार दी.

बाइक सवार दंपत्ति ने जब इस घटना का विरोध किया तो भाजपा नेता और उसके 2 कार्यकर्ताओं समेत बुर्का पहने 1 महिला ने दंपत्ति के साथ मारपीट को अंजाम दिया. इतना ही नहीं उन्होंने आरती के कपड़े तक फाड़ दिए.

मारपीट की घटना के बाद प्रशांत और उनकी पत्नी आरती ने घटनास्थल पर हंगामा शुरू कर दिया. प्रशांत ने अपनी शर्ट निकालकर पत्नी आरती को पहनाई. इस पूरी घटना से आगबबूला प्रशांत भाजपा नेता दिग्विजय सिंह की गाड़ी के आगे लेट गए.

ग़ौरतलब है कि भाजपा नेता ने दंपत्ति को खुलेआम धमकियां भी दी. इस घटना को लेकर लगभग 25 लोग दंपत्ति के पक्ष में थाने गए. लेकिन भाजपा नेता दिग्विजय सिंह अपनी ताकत का प्रदर्शन करते हुए 150 कार्यकर्ताओं के साथ थाने आ गए. जिसके बाद भाजपाइयों ने थाने में जमकर हंगामा किया.

नवजीवन  की ख़बर के अनुसार पुलिसकर्मियों ने भी दंपत्ति पर दबाव बनाया. पुलिस ने समझा-बुझाकर कहा कि हम उनसे माफी मांगवा लेंगे. हालांकि पीड़ित महिला ने कहा कि उनके साथ सरेआम मारपीट हुई, उनके कपड़े फाड़े गए हैं. बात सम्मान की है, जिसने जो किया है उसकी सजा मिलनी चाहिए.

आखिरकार पुलिस ने भाजपा नेता दिग्विजय सिंह समेत 5 लोगों के ख़िलाफ़ मारपीट, छेड़खानी और एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+