कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

#Metoo कैंपेन : बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी पर लगा यौन शोषण का आरोप, सीओए ने मांगा स्पष्टीकरण

जोहरी ने 2001 से 2016 तक डिस्कवरी चैनल के साथ विभिन्न पदों पर काम किया है।

#Metoo कैंपेन में लगातार भारतीय मीडिया एवं फिल्म जगत के जाने माने नाम सामने आने के बाद इस बार वर्तमान में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ), राहुल जौहरी का भी नाम फेहरिस्त में शामिल हो गया है। जोहरी पर एक अज्ञात महिला ने उनका यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। जोहरी ने 2001 से 2016 तक डिस्कवरी चैनल के साथ विभिन्न पदों पर काम किया जिसके बाद 2016 में वह बीसीसीआई के सीईओ बने थे।

ग़ौरतलब है कि ट्विटर पर लेखक हरनिध कौर ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ईमेल का स्क्रीनशॉट शेयर किया जिसमें एक महिला ने राहुल जौहरी पर नौकरी देने के बहाने शारीरिक तौर पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। द वायर की ख़बर के मुताबिक़ ईमेल के स्क्रीनशॉट में महिला ने बताया है कि राहुल जौहरी उनके पुराने सहकर्मी थे और उनसे अक्सर बात हुआ करती थी। अक्सर दोनों कॉफ़ी पर भी मिला करते थे।

महिला के अनुसार, “एक बार टीवी चैनल में मेरी नौकरी की ख़राब स्थिति की वजह से राहुल ने मुझे हयात होटल में कॉफ़ी पर बुलाया था। मैं पिछले कुछ समय से कॉफ़ी पर उनके साथ जाने से मना कर देती थी, लेकिन मैंने सोचा कि इस बार मना नहीं करना चाहिए।”

महिला ने ईमेल में कहा, “वह ठंड का समय था। मैं उनके साथ कॉफ़ी पीने के लिए चली गई। वहां नौकरी की संभावनाओं पर बात हुई। इसके बाद राहुल ने मुझे अपने घर चलने के लिए कहा। मैं उनकी पत्नी सीमा और बच्चे से पहले भी मिल चुकी थी तो मैं उनके साथ उनके गुड़गांव स्थित फ़्लैट चली गई। मुझे लगा था कि घर पर राहुल की पत्नी होंगी, लेकिन घर पहुंचने पर दरवाज़ा खोलने के लिए राहुल ने चाबी निकाली। मैंने उनसे पूछा कि आपने बताया नहीं कि आपकी पत्नी घर पर नहीं हैं? तो राहुल ने कहा कि इसमें बताने जैसा क्या है? वह कहीं गई हुई हैं। उस समय मुझे बहुत प्यास लगी हुई थी तो मैंने राहुल से पानी मांगा।”

महिला ने आगे बताया, “पानी देने की जगह नौकरी की बात होने लगी क्योंकि राहुल चैनल में नंबर दो की पोज़ीशन पर थे। कुछ देर की बात होने के बाद मैंने उनसे फिर पानी मांगा तो वह पानी लेने चले गए। महिला के बताया, “मुझे याद है कि राहुल सिल्वर कलर के ग्लास में पानी लेकर आए और मुझे ग्लास पकड़ा दिया। मैं पानी पी रही थी तो उन्होंने मेरे सामने ही पैंट उतार दिया। मैं उनकी इस हरकत से डर गई। मुझे खांसी आने लगी। जिस हाथ में मैंने ग्लास पकड़ा हुआ था वह कांप रहा था। राहुल ने ग्लास मुझसे ले लिया और कहा कि यह नौकरी के लिए तुम्हारे इंटरव्यू का ही हिस्सा है।”

ज्ञात हो कि बीसीसीआई के लिए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) ने शनिवार को बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी से सोशल मीडिया पर उनके ख़िलाफ़ #Metoo पर अज्ञात अकाउंट से कथित यौन उत्पीड़न के आरोपों के बारे में स्पष्टीकरण मांगा है। उस पोस्ट पर प्रतिक्रिया करते हुए उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त सीओए ने उन्हें एक हफ़्ते के अंदर स्पष्टीकरण सौंपने के लिए कहा है एवं आगे की कार्रवाई इसके अनुसार होगी। सीओए के बयान के अनुसार, “रिपोर्ट में अज्ञात व्यक्ति ने ट्विटर हैंडल पर राहुल जौहरी के ख़िलाफ़ यौन उत्पीड़न के आरोपों का ख़ुलासा किया है। ये आरोप उनके पिछले कार्यकाल से संबंधित है।”

बयान में कहा गया है, “हालांकि, ये आरोप बीसीसीआई में उनके कार्यकाल के दौरान से संबंधित नहीं है, पर बीसीसीआई की प्रशासकों की समिति को यह उचित लगा कि उनसे इन आरोपों के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा जाए।”

इसे भी पढ़ें-  #Metoo कैंपेन : महिला पत्रकारों ने किया यौन शोषण के ख़िलाफ़ संसद मार्ग पर विरोध प्रदर्शन

 

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+