कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

#Metoo कैंपेन: फ़िल्म और मीडिया जगत के कई जाने माने लोगों पर लगा यौन शोषण का आरोप

चेतन भगत, कैलाश खेर, विकास बहल, गौतम अधिकारी समेत कई लोगों के ख़िलाफ़ महिलाएं आगे आईं।

महिलाओं के यौन शोषण की घटना को उजागर करने वाली Metoo कैंपेन सिनेमा से लेकर पत्रकारिता जगत के कई हस्तियों को बेनक़ाब कर रही है। इसी क्रम में जानेमाने लेखक चेतन भगत के ऊपर भी एक महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है।

गौरतलब है कि इस महिला ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर चेतन भगत से बातचीत का स्क्रीनशॉट साझा किया।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इस स्क्रीनशॉट में चेतन इस महिला को लुभाने की कोशिश कर रहे थे जबकि महिला उन्हें बार-बार उनके शादीशुदा होने की बात याद दिला रही थीं। चेतन भगत ने महिला के इस आरोप को स्वीकार करते हुए फेसबुक पर अपने पोस्ट के ज़रिये माफ़ी मांगी। चेतन ने अपने पोस्ट में कहा कि उन्होंने इस महिला के साथ एक ‘कनेक्शन’ महसूस किया जिसके चलते उन्होंने यह बात कही थी। विडम्बना यह है कि उन्होंने माफ़ी तो मांगी पर इस बात पर ज़्यादा ज़ोर दिया कि इस महिला को ग़लतफ़हमी हुई है।

क्वीन मूवी के निर्देशक विकास बहल पर भी एक महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। ज्ञात हो कि फ़ैंटम फ़िल्मस की एक महिला कर्मचारी ने कहा है कि मई 2015 में विकास बहल ने गोवा में उनका यौन शोषण किया था। उन्होंने कहा कि इसके बारे में उन्होंने प्रोडक्शन कंपनी के मालिक अनुराग कश्यप को भी जानकारी दी थी। लेकिन उन्होंने कोई कदम नहीं उठाया।

इस मामले को लेकर फ़िल्म निर्देशक अनुराग कश्यप का कहना है कि उक्त महिला का आरोप बिल्कुल सही है और वे तब कोई ठोस कदम नहीं उठा सके थे। इसके लिए उन्होंने खेद जताया और कहा कि विकास बहल की यह हरक़त बिल्कुल भी नज़रअंदाज़ करने लायक नहीं थी और वे अपनी भूल सुधारने की कोशिश कर रहे हैं।

इधर, वरिष्ठ पत्रकार गौतम अधिकारी पर उनकी पूर्व महिला सहयोगी ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। महिला का कहना है कि डीएनए अख़बार के मुख्य संपादक रहते हुए गौतम ने उनके साथ ज़बरदस्ती शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की थी। हालांकि गौतम अधिकारी ने इन आरोपों का खंडन किया है।

इसी कड़ी में देश के जाने माने गायक कैलाश खेर पर भी यौन शोषण के आरोप लगे। फर्स्टपोस्ट की एक रिपोर्ट के अनुसार एक महिला पत्रकार ने खेर पर मस्कट में एक इंटरव्यू के दौरान उन्हें अनुचित ढंग से छूने और बदतमीज़ी करने का आरोप लगाया।

इसे भी पढ़ें – #Metoo कैंपेन: वो लोग जो नौकरी देने के ओहदे में रहे हैं, पढ़िए और झांकिए ख़ुद में – रवीश कुमार

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+