कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

“भाजपा में विधायकों की औकात कुत्ते से भी कम है” भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुई विधायक प्रमिला सिंह का बड़ा बयान

प्रमिला ने कहा कि विधानसभा में आदिवासी समाज के लिए आवाज़ उठाने पर विधायकों की आवाज़ दबा दी जाती है.

मध्यप्रदेश में आगामी चुनाव से पहले शिवराज सरकार को एक बड़ा झटका लगा. जयसिंह नगर से भाजपा विधायक प्रमिला सिंह पार्टी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गई थी. लेकिन पार्टी छोड़ने के बाद प्रमिला सिंह ने शिवराज सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए भाजपा पर अपने विधायकों की आवाज़ दबाने का आरोप लगाया है. साथ ही उन्होंने भाजपा विधायकों की तुलना कुत्तों से कर दी.

जनसत्ता की ख़बर के अनुसार प्रमिला ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, “जब हम आदिवासी सीट से चुनकर विधानसभा जाते हैं तो विधायक के रूप में अपने समाज को आगे लाने के लिए अपनी बाते रखने की कोशिश करते हैं. लेकिन वहां भी बात दबा दी जाती है. भाजपा विधायकों की औकात कुत्ते से भी कम रहती है. कुत्ता कम से कम स्वतंत्र भौंक तो सकता है. लेकिन भाजपा विधायक विधानसभा में बोल भी नहीं सकते. जब भी विधायक बोलने की कोशिश करते हैं तो पीछे से उन्हें शांत कराने की कोशिश करते हैं.”

गौरतलब है कि चुनावों से ठीक पहले भाजपा से नाराज़ विधायकों ने बगावत कर पार्टी छोड़ दी. ऐसे में शिवराज सिंह के लिए चुनावी अखाड़े में जीत हासिल करना अधिक मुश्किल हो सकता है.

 

न्यूज़सेंट्रल24x7 को योगदान दें और सत्ता में बैठे लोगों को जवाबदेह बनाने में हमारी मदद करें