कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

राफेल सौदे पर ट्विटर यूजर्स ने पीएम मोदी को लताड़ा, कहा- इस्तीफ़ा दें प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री

ट्विटर पर चल रहे ट्रेंड्स को भाजपा समर्थक लाख कोशिशों के बावजूद भी संभाल नहीं पा रहे हैं।

रफाल विमान सौदे पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद का बयान सामने आने के बाद ट्विटर उपभोगताओं ने सरकार को जमकर लताड़ा है। ट्विटर पर चल रहे ट्रेंड्स को भाजपा समर्थक लाख कोशिशों के बावजूद भी संभाल नहीं पा रहे हैं।

कृष्ण प्रताप सिंह ने लिखा है कि रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के पास राफेल सौदे को लेकर कोई विशेष जानकारी नहीं है। रक्षामंत्री वही बातें बोलती हैं, जो पीएमओ द्वारा कहा जाता है।

लेखक चेतन भगत ने कहा कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने राफेल सौदे को लेकर मोदी सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है, सरकार को जल्द से जल्द इसकी जांच करनी चाहिए।

तुफैल अहमद ने कहा कि इस समय जो लोग भी राफेल सौदे पर मोदी सरकार का बचाव कर रहे हैं, संघ की भाषा में वे देशद्रोही हैं। अगर सरकार में थोड़ी सी भी शर्म बाकी हो तो नरेंद्र मोदी, निर्मला सीतारमण और अरुण जेटली को तुरंत अपने पद से इस्तीफ़ा दे देना चाहिए।

सतीश आचार्य ने एक कार्टून के माध्यम से सरकार पर निशाना साधा है।

गौरव पांधी कहते हैं कि सरकार ने अभी तक राफेल घोटाले में जांच शुरू नहीं की है, इसका मतलब यह है कि इसमें प्रधानमंत्री का हाथ शामिल है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल का कहना है कि फ्रांस्वा ओलांद ने राफेल सौदे के सच को सामने ला दिया है, अब सरकार को भी अपनी गलती मानकर जनता के सामने सच्चाई लानी चाहिए।

 

   

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+