कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

राष्ट्रीय सुरक्षा हो या सफ़ाईकर्मियों की मौत, हर मुद्दे पर विपक्षी दलों से घिर गई है मोदी सरकार

विपक्षी दलों ने इस वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही में जीडीपी की धीमी रफ़्तार को लेकर भी सवाल उठाए हैं.

आगामी लोकसभा चुनाव के लिए वोट मांगने निकली भारतीय जनता पार्टी के ख़िलाफ़ विपक्षी नेताओं ने मोर्चा खोल दिया है. एक के बाद एक सभी मुद्दों पर भाजपा लगातार देश की विपक्षी दलों के निशाने पर है.

देश की मुश्किल परिस्थितों के समय फ़ोटो शूट कराने को लेकर विपक्ष ने मोदी सरकार से सवाल उठाए हैं. इसके साथ-साथ वाराणसी में दो स्वास्थ्य कर्मियों की मौत तथा दूसरी तिमाही जीडीपी में गिरावट को लेकर भी विपक्ष दलों ने मोदी सरकार पर हमला बोला है.

एबीपी न्यूज़ के एक कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा,“यह काफी शर्म की बात है कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश की देश की सुरक्षा में खड़े सैनिकों को मज़बूत करने की ज़रूरत थी, तब वह अपने संगठन भाजपा को मजबूत करने और वोट बटोरने वाली राजनीति करने में व्यस्त थे.”

इसके साथ ही प्रियंका चतुर्वेदी ने 28 फरवरी को भाजपा द्वारा आयोजित विडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के लिए भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि 28 फरवरी को जब भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तानी सेना ने कैद किया तब भगवा पार्टी दुनिया की सबसे बड़ी विडियो कॉन्फ्रेंस में व्यस्त थी.

सपा प्रमुख अखिलेश यादव, बसपा प्रमुख मायावती के साथ ही कई विपक्षी दलों ने भी मोदी सरकार के ‘मेरा बूथ, सबसे मजबूत’ कार्यक्रम की कड़ी आलोचना की.

वहीं, भारत (मार्क्सवादी) कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी ने ट्वीट कर कहा कि एक (पाकिस्तान के प्रधानमंत्री) अपने देश की सेवा करता है तो दूसरा (नरेन्द्र मोदी) सिर्फ अपनी पार्टी की.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनावी रैलियों और टीवी स्टूडियो के युद्ध से अलग होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नेतृत्व कब दिखाई देगा?”

सीवर सफाईकर्मियों की मौत

24 फरवरी को कुंभ पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच सफाईकर्मियों के पैर धोए. देश के प्रधानमंत्री द्वारा सफाईकर्मियों के पैर धोने का विडियो और तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. हालांकि, प्रधानमंत्री मोदी ने देशभर में असुरक्षित तरीके से काम करने के कारण सफाईकर्मियों की हुई मौतों पर या इसके समाधान पर कोई बयान नहीं दिया. मोदी के इस कदम की कड़ी आचोलना की गयी. इसका विरोध करते हुए सफाईकर्मियों ने मोदी के खिलाफ रैली भी निकाली.

सफाईकर्मियों के पैर धोने के करीब एक सप्ताह बाद ही प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सीवर टैंकों की सफाई के दौरान दो सफाईकर्मियों की मौत हो गयी. इसपर सीपीआई(एम) ने मोदी सरकार पर जमकर हमला किया.

हाल ही में सरकार द्वारा जारी किए गए जीडीपी आंकड़ों ने अर्थव्यवस्था की धीमी गति प्रदर्शित की. अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में केवल 6.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने जीडीपी में गिरावट को लेकर मोदी पर निशाना साधा है.

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में जीडीपी संबंधित रिपोर्ट को साझा करते हुए कहा कि झूठे वादे, झूठे खेल. इस तिमाही के आंकड़े में फिर चौकीदार फेल.’

न्यूज़सेंट्रल24x7 को योगदान दें और सत्ता में बैठे लोगों को जवाबदेह बनाने में हमारी मदद करें
You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+