कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

योगी आदित्यनाथ के मंत्री ने शहरों के नाम बदलने पर कसा तंज़, कहा – भाजपा अपने मुस्लिम नेताओं के भी नाम बदल दे

उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा है कि जब भी वे पिछड़े लोगों के अधिकारों के लिए आवाज़ उठाते हैं, तो इन मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के मुद्दे उठाए जाते हैं.

योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने शहरों और ज़िलों के नाम बदले जाने पर योगी सरकार के ऊपर निशाना साधा है. राजभर ने कहा है कि शहरों का नाम बदलने वाली भाजपा को शाहनवाज हुसैन और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी जैसे नेताओं का भी नाम बदल देना चाहिए.

ओमप्रकाश राजभर ने कहा, “भाजपा ने मुग़लसराय और फ़ैजाबाद का नाम बदल दिया. वे कहते हैं कि ये नाम मुग़लों के नाम पर रखे गए थे. लेकिन, उनके राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन, केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी और उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री मोहसिन रज़ा यह सभी भाजपा के तीन मुस्लिम चेहरे हैं. पहले उनके नामों को बदला जाए.”

जनसत्ता की ख़बर के मुताबिक राजभर ने कहा कि जब भी वे पिछड़े और उत्पीड़ित लोगों के अधिकारों के लिए आवाज़ उठाते हैं, तो लोगों का ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के मुद्दे उठाए जाते हैं. राजभर ने कहा कि मुसलमान शासकों ने इस देश को जो दिया वो किसी और ने नहीं दिया. क्या हमें जीटी रोड़ को उखाड़ फेंकना चाहिए? राजभर ने सवाल किया कि ताज महल किसने बनवाया, लालकिला किसने बनवाया?

ग़ौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में फ़ैजाबाद ज़िले का नाम बदलकर अयोध्या करने का ऐलान किया है. इससे पहले इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज मुगलसराय का नाम दीनदयाल उपाध्याय नगर किया जा चुका है.

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+