कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

राय

अल्पसंख्यकों के संवैधानिक अधिकारों पर संकट, फैलेगी साम्प्रदायिकता की आग: मोदी सरकार 2.0 को लेकर कुछ सम्भावनाएँ और डर

यह सूची है उन कार्यों की जो मैं उम्मीद करता हूँ कि यह सरकार कभी ना करे. लेकिन साथ ही डरता भी हूँ कि ऐसा किया जाएगा.

ये मत पूछिए मोदी नहीं तो कौन, ये पूछिए मोदी फिर आएगा तो क्या होगा?- हर्ष मंदर

2019 में 2014 वाला विकास का पेड़ कट चुका है. उसके ‘अच्छे दिन’ के हरे पत्ते सूख कर झड़ चुके हैं. जो बचा है वो सिर्फ़ नफ़रत की शाखाएं हैं और जहर व अलगाववाद की जड़े हैं.

साध्वी प्रज्ञा की लोकसभा दावेदारी अपवाद नहीं- ये दौर सिर्फ़ बेशर्म राजनीति का दौर है

यह दावेदारी, संकल्प पत्र और ऐसे बयान यह इशारा करते हैं कि अगर इन्हें सत्ता पर दोबारा कब्ज़ा मिला तो पहले से ज़्यादा कट्टरपंथी राजनीति देखने को मिलेगी.
You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+