कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

पहलू खान माॅब लिंचिंग : गवाही देने जा रहे चश्मदीद पर जानलेवा हमला, सबूत मिटाने की कोशिश

अलवर एसपी राजेंद्र सिंह ने कहा, "उन्होंने अभी तक हमसे संपर्क नहीं किया है और हमें केवल मीडिया से ही पता चला है। यदि वे हमसे संपर्क करते हैं तो हम आवश्यकतानुसार कार्रवाई करेंगे

भीड़ के द्वारा की गई हिंसा में बमुश्किल ही किसी की नामज़दगी हो पाती है और यदि हो भी जाए तो जांच को प्रभावित करने के लिए हर संभव कोशिशें की जाती हैं। इसमें गवाहों को धमकी देने से लेकर उनकी हत्या कर देने तक के प्रयास भी शामिल हैं। ताज़ा मामले में आज सुबह पहलू खान मॉबलिचिंग केस में गवाही देने जा रहे गवाह, वक़ील और पहलू खान के बेटों पर जानलेवा हमला किया गया। अज्ञात हमलावरों ने गोलियों से फायरिंग की है। हालांकि सभी सुरक्षित हैं। वकील असद हयात ने  इसके पीछे मामले के आरोपियों और सांप्रदायिक तत्वों का हाथ बताया है।

वक़ील असद हयात ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि “आज पहलू केस में गवाहों के बयान शुरू होने थे। इसलिए मैं पहलू के पुत्रगण इरशाद , आरिफ और गवाह अज़मत व रफीक़ के साथ कार से बहरोड़ जा रहा था। कार अमजद चला रहा था । नीमराना क्रॉस करने के बाद अज्ञात लोगों द्वारा हमारी कार का पीछा शुरू कर दिया गया और ओवरटेक करते हुए कार को रोकने की कोशिश की गई और फायर भी किया गया। फायरिंग करते हुए गाड़ी बहरोड़ की तरफ चली गयी । काले रंग की स्कोर्पियो थी जिस पर नंबर प्लेट नहीं थी। इन हालात मैं हमने गाड़ी को वापस यूटर्न से वापस लिया है और अब अलवर ज़िला अधिकारियों के पास जा रहे है। सभी सुरक्षित हैं। गवाही से रोकने के लिए ये कृत्य अपराधियों द्वारा किया गया है।”

पहलू खान का पुत्र इरशाद ने बताया कि “स्कोर्पियो हमारे नजदीक आई जिसमें बैठा एक आदमी ने हमें अपनी गाड़ी रोकने का कहा,लेकिन हमने गाड़ी नहीं रोकी क्योंकि उस गाड़ी में नंबर प्लेट नहीं था। नहीं रकने पर उसने गाली देना शुरू किया।”

वहीं इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार अलवर एसपी राजेंद्र सिंह ने कहा, “उन्होंने अभी तक हमसे संपर्क नहीं किया है और हमें केवल मीडिया से ही पता चला है। यदि वे हमसे संपर्क करते हैं तो हम आवश्यकतानुसार कार्रवाई करेंगे

गौरतलब है कि इस साल एक अप्रैल को अलवर में गोरक्षकों की भीड़ ने पहलू खान पर हमला किया था। जिस वक्त उनपर हमला हुआ उस वक्त वह राजस्थान में गाय खरीदने के बाद हरियाणा जा रहे थे। डेयरी बिजनस करने वाले पहलू खान की हमले के 2 दिन बाद मौत हो गई थी। इस घटना के बाद पुलिस ने कुछ लोगों के खिलाफ नामजद तो दर्जनों अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

You can also read NewsCentral24x7 in English.Click here
+